जयपुर। राजस्थान की जयपुर और अलवर पुलिस ने आज एक बडी सफलता हासिल करते हुए 14 एटीएम लूटने वाले गिरोह के दस लोगों को पकडा है। इस गिरोह ने राजस्थान, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, दिल्‍ली, गुरुग्राम, उत्तराखंड और बिहार में 1.35 करोड़ रुपए से भरे 14 एटीएम लूटे हैं। जयपुर दिल्ली हाइवे पर 23 अक्टूबर को प्रताप यूनिवर्सिटी के बाहर लगा एक एटीएम लूटा गया था। इस घटना के बाद जयपुर और अलवर पुलिस ने संयुक्त टीम गठित की तो सामने आया कि यह वारदात अलवर और मेवात क्षेत्र में सक्रिय नासिर गिरोह ने की है। यह भी पता चला कि यह गिरोह कई राज्यों में ऐसी घटना कर चुका है। पुलिस ने जयपुर और अलवर की दो अलग-अलग टीमें गठित कर दिल्ली, गुरुग्राम, भिवाडी आदि इलाकों में इन आरोपियो को ढूंढना शुरू किया। जांच में सामने आया कि गिरोह का सरगना इन दिनों पश्चिम बंगाल के हुगली में कहीं है। टीम को वहां भेजा गया और हुगली के चण्डीताला इलाके से गिरोह के सरगना नासिर और इसके तीन साथियों अलीशेर, तारीफ और जसविंद्र जाटव को गिरफ्तार किया गया। ये वहां भी कोलकता के आसपास किसी एटीएम को लूटने की योजना बना रहे थे। इसके बाद इनसे पूछताछ के बाद गिरोह के अन्य सदस्यों को भरतपुर के कुम्हेर और अलवर से गिरफ्तार किया गया।

यह था वारदात का तरीका

पुलिस ने बताया कि ये लोग हाइवे पर स्थित एटीएम पर नजर रखते थे और ऐसा एटीएम ढूंढते थे, जिस पर ज्यादा लोग न जाते हो। कुछ दिन इसकी रैकी करते और जब इसमें कैश भर दिया जाता तो उसी रात एक बड़ा ट्रेलर लाकर एटीएम के सामने खड़ा कर देते, ताकि एटीएम किसी को नजर न आए। इसके बाद एटीएम में घुस कर कैमरा और लाइट बंद कर देते और एटीएम को उखाड़कर एक गाड़ी में डाल कर फरार हो जाते।

घटनास्थल से कुछ दूर जाने के बाद एटीएम को तोड़कर उसका कैश निकालते और आपस में बांट कर अलग-अलग हो जाते। वारदात के दौरान इनके साथी हाइवे पर गश्ती दल पर नजर रखते थे। इस तरह इन्होंने आठ राज्यों में 14 एटीएम उखाड़े हैं और इनमें रखे 1.35 करोड़ रुपए लूटे हैंं। पुलिस ने आरोपियों के पास से ट्रेलर, स्काॅर्पियों गाडी, एटीएम तोडने के उपकरण और नगदी बरामद की है।

Posted By: Navodit Saktawat