जयपुर। राजस्थान पुलिस में अब 40 वर्ष से कम आयु वाले अधिकारियोंं और पुलिसकर्मियों को फील्ड में ही पोस्टिंग दी जाएगी। उन्हें पुलिस विभाग के कार्यालयों में किसी तरह के बाबूगिरी के काम में नहीं लगाया जाएगा। राजस्थान पुलिस महानिदेशक ने इस बारे में आदेश जारी किए हैं। राजस्थान में पुलिस मुख्यालय, शासन सचिवालय, रेंज कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्यालय, वृताधिकारी कार्यालय ,बटालियन्स के कार्यालयों में कई ऐसे पुलिसकर्मी भी तैनात है जो अपेक्षाकृत काफी युवा है और जिनका फील्ड में बेहतर उपयोग हो सकता है, लेकिन आराम की नौकरी के चक्‍‍‍कर में ये इन कार्यालयों में बैठ कर फाइलें इधर-उधर कर रहे है। अब पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह ने इस बारे मेंस्पष्ट आदेश जारी किया है। इसके अनुसार पुलिस विभाग के विभिन्न कार्यालयों में उन्हीं पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी जिनकी आयु 40 वर्ष और अनुभव 15 वर्ष से ज्यादा हो गया होगा। इनसे कम आयु और अनुभव वालोंं को फील्ड में जाना होगा। यहां तक की डाक वितरण के काम में भी अब 45 वर्ष से अधिक आयु के पुलिसकर्मी ही तैनात किए जाएंगे।

आदेश में कहा गया

आदेश में कहा गया है कि यदि किसी पुलिसकर्मी को किसी विशेष कारण या उसकी विशेष तकनीकी उपयोगिता के कारण कार्यालय में नियुक्त करना हो तो इसके लिए पुलिस महानिदेशक से अनुमति लेनी होगी और ऐसे लोगों को भी एक बार में अधिकतम पांच वर्ष के लिए पोस्टिंग दी जाएगी। इसके बाद इन्हें फील्ड में जाना ही होगा। पदस्थापन की अवधि में बढोतरी सिर्फ विशेष परिस्थिति या विकल्प नहीं होने की स्थिति में ही दी जाएगी और इसके लिए भी पुलिस महानिदेशक से अनुमति लेनी होगी। विभागीय सूत्रों का कहना है कि यह आदेश इसलिए जारी करना पडा है कि पुलिस बेडे में कई पुलिस अधिकारी और कर्मचारी ऐसे है जो युवा होने के बावजूद काम कर रहे है, वहीं जिनकी उम्र ज्यादा है, उनसे फील्ड में काम लिया जा रहा है। ऐसे में न संतुलन बैठ पा रहा है और न योग्यता का ढंग से उपयोग हो पा रहा है। अब सभी कार्यालयों में ऐसे लोगो को चिन्हित किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : butati dham rajasthan : लकवे के मरीजों के लिए राहत बनकर उभरा है राजस्‍थान का बुटाटी धाम मंदिर, कैसे बना आस्‍था का तीर्थ, पढ़ें विस्‍तार से

Posted By: Navodit Saktawat