Rajasthan Politics : राजस्थान के सियासी संकट में विधानसभा सत्र के दौरान अब भाजपा की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाने की चर्चाएं भी शुरू हो गई है। हालांकि पार्टी के नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया का कहना है कि अभी कुछ तय नहीं है। सत्र शुरू होने के बाद स्थिति देख कर निर्णय करेंगे।

राजस्थान विधानसभा का सत्र सामान्य ढंग से आहुत किया गया है। इसमें सरकार की ओर से विश्वास मत की बात नहीं कही गई है। ऐसे में अब भाजपा की ओर से अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने की चर्चा शुरू हो गई है। गौरतलब है कि भाजपा ने कांग्रेस का आपसी विवाद बताते हुए अपनी ओर से फलोर टेस्ट कराने की मांग राज्यपल से नहीं की थी। पर अब चूंकि सत्र आहुत हो गया है तो इस बात की सम्भावना व्यक्त की जा रही है कि अभी चल रहे घटनाक्रम पर सरकार को घेरने के लिए भाजपा अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है और उस पर चर्चा के जरिए सरकार को सदन में घेर सकती है। इस बारे में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सदन की कार्यवाही चलती है तो अविश्वास प्रस्ताव हम कभी भी ला सकते है। इसके लिए हमें विधानसभा के सचिव को नोटिस देना होता है और सदन की कुल संख्या के 20 प्रतिशत सदस्यो का समर्थन जरूरी होता है। ऐसे में यह कर सकते है, लेकिन अभी इस बारे में कुछ तय नहीं किया है। सदन के दौरान जैसी स्थितियां होंगी, उस के हिसाब से इस बारे में विचार करेंगे।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020