जयपुर। राजस्थान में जेल के कैदियों के बीच कोरोना संक्रमण के मामले बढते जा रहे है। इसे देखते हुए अब स्वास्थ्य विभाग ने हर जिले में कोविड केयर सेंटर पर कैदियों के लिए अलग जेल वार्ड बनाने के निर्देश दिए है। अब तक जयपुर सैंट्रल जेल और जिला जेल में 188 कैदियों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। हालांकि इनमें से 69 कैदी ठीक भी हो गए है, लेकिन कैदियों के संक्रमित होने के मामले लगातार आ रहे है। इस स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने कैदियों के बारे में कुछ स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग नियम तय किए है।

चिकित्सा विभाग के पीएस रोहित कुमार सिंह की ओर से जारी इन नियमों में तय किया गया है कि हर जिले में कोविड केयर सेंटर पर अलग से जेल वार्ड बनाया जाएगा। पुलिस जिस कैदी को कोविड केयर सेंटर पर लाएगी, उसका उसी दिन टेस्ट कर रिपोर्ट दी जाएगी। जांच निगेटिव आने पर पुलिस को इसकी जानकारी दी जाएगी और कैदी को वापस जेल भेज दिया जाएगा, वहीं टेस्ट पॉजिटिव आता है तो उसे 21 दिन के लिए जेल में बने आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा।

जेल के चिकित्सा अधिकारी यहां आइसोलेशन वार्ड में रखे गए संक्रमितों की नियमित जांच करेंगे। इसके अलावा यह संक्रमण जेल कर्मचारियों और उनके परिवार वालों में न फैले इसके लिए हर 15 दिन में रेंडम सैम्पलिंग की जाएगी। गौरतलब है कि जेल में कैदियों के बीच संक्रमण फैलने के मामले में हाईकोर्ट भी संज्ञान ले चुका है और इसके आधार पर जेल विभाग ने अपने स्तर पर भी कुछ नियम तय किए गए है।

राजस्थान में बढ़ रहे कोरोना मरीज

लॉकडाउन को 2 महीने का वक्त हो चुका है, बावजूद इसके देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा होने का सिलसिला जारी है। राजस्थान में भी कोरोना मरीजों की संख्या एक बार फिर बढ़ने लगी है। सूबे में कोरोना मरीजों की संख्या 6 हजार को पार कर गई है। वहीं अब तक 151 मौतें भी हो चुकी हैं।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना