जयपुर। राजस्थान विधानसभा का सत्र शुक्रवार से शुरू होगा। साल का पहला सत्र होने के कारण राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण के साथ सत्र शुरू होगा। हालांकि सत्र के पहले दिन ही काफी हंगामा होने की सम्भावना है, क्योंकि सरकार सत्र में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ संकल्प पारित कराने का प्रस्ताव ले कर आएगी। इसके साथ ही संसद और विधानसभा में अनुसूचित जाति और जनजाति का आरक्षण दस साल बढ़ाने के लिए किए गए 126वें संविधान संशोधन का अनुमोदन भी किया जाएगा। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने 24 व 25 जनवरी के लिए विधायको को व्हिप जारी कर दिया है।

विधानसभा के बजट-सत्र के पहले दिन की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से होगी। अभिभाषण के बाद विधानसभा-लोकसभा चुनावों में अनुसूचित जाति और जनजाति आरक्षण को 10 साल बढ़ाने के संकल्प को पारित किया जाएगा। उसके बाद 25 जनवरी को सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की तैयारी है। कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक महेश जोशी ने दोनों दिन कांग्रेस विधायकों को पूरे समय सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है। व्हिप का उल्लंघन करने वाले विधायकों पर अनुशसनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

वहीं प्रतिपक्षी भाजपा ने अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी कियाा है। भाजपा विधायक दल की गुरूवार को हुई बैठक में व्हिप जारी करने का निर्णय किया गया। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने विधायको से कहा है कि यदि सीएए मामले में मतदान की नौबत आती है तो विधायक पार्टी के निर्णय के अनुसार वोट करें। इसके साथ ही उन्होंने इस बात पर भी आपत्ति की कि सीएए का मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है,ऐसे में सरकार इस मामले पर कोई प्रस्ताव पारित नहीं कर सकती। उन्होने कहा कि सदन की बेठक के दौरान जनता से जुड़े सारे मसलों पर सरकार को घेरेंगे।

इस सत्र में फरवरी में राज्य का बजट पेश किया जाएगा और कुछ महत्ववपूर्ण विधेयक भी पेश किए जाएंगे।

Posted By: Navodit Saktawat

fantasy cricket
fantasy cricket