जोधपुर (ब्यूरो)। दो दिन पहले कुड़ी पुलिस ने नाकाबंदी में एक वरना कार को बिना नंबरी होने पर जब्त किया था। बाद में कार के चेसिस, इंजन नंबर आदि चेक करने पर पता लगा कि यह कार जालोरी गेट के अंदर राजदान मेंशन से पार हुई थी। कार मालिक असलम की तरफ करीबन डेढ़ महीने पहले रिपोर्ट दी गई थी। कार चोरी होने और खरीद करने वाले को पकड़ा गया तब मालूम हुआ कि इसके खरीददार एक नहीं बल्कि छह लोग है ।

पुलिस ने दो दिन तक मशक्कत कर परत दर परत छह खरीददारों की जानकारी उजागर की, लेकिन कार चुराने वाला मुख्य अभियुक्त पुलिस के हाथ अभी भी नहीं लग पाया। पुलिस पकड़े गए छह लोगों से अब पूछताछ कर रही है। इसमें किसी बड़े रैकेट का हाथ हो सकता है।

खांडाफलसा थानाधिकारी सुमेरदान ने बताया कि इसके खरीददारों भोपालगढ़ के नांदिया प्रभावती निवासी पिंटू पुत्र बाबूलाल विश्रोई, रामड़ावास पीपाड़शहर निवासी भजनलाल पुत्र पूनाराम, प्रतापनगर काली टंकी के पास रहने वाले मोहम्मद इसाक पुत्र अब्दूल सलाम, रामडावास के प्रेमसिंह पुत्र छत्र सिंह, खेड़ीसालवा डांगियावास के शंकरलाल पुत्र खंगारराम एवं हिंगोली भोपालगढ़ निवासी अनिल पुत्र भंवरलाल विश्रोई को गिरफ्तार किया गया।

इस कार के और भी खरीददार सामने आ सकते है। थानाधिकारी ने बताया कि कार को चुराने वाला मुख्य अभियुक्त हाथ नहीं आया है। पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ के आधार पर पुलिस जांच में जुटी है। साथ ही कार चोरी गिरोह की संभावनाएं भी तलाश रही है।

Posted By: Sonal Sharma