जोधपुर, 16 अगस्त। राजस्थान में पंचायती राज चुनाव के टिकटों के लिए जबर्दस्त घमासान मचा हुआ है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं में टिकट को लेकर जोरदार मारामारी हो रही है। सरकार ने इस बार कई नई पंचायत समितियों का गठन किया है, और पहली बार इनके चुनाव होने हैं। ऐसे में कांग्रेस में टिकट को लेकर काफी घमासान छिड़ा हुआ है। यहां तक कि ऐसे में जिले के प्रभारी मंत्री के दौरे के बीच शक्ति प्रदर्शन की होड़ में पाली के पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ के साथ धक्का मुक्की तक हो गई। धक्का-मुक्की का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।

दरअसल जोधपुर के प्रभारी मंत्री महेंद्र चौधरी स्वत्रंत्रता दिवस के मौके पर जोधपुर पहुंचे थे। इस दौरान जिला परिषद और पंचायत समिति के दावेदार सर्किट हाउस में अपना शक्ति प्रदर्शन करने पहुंच गये। इसी दौरान पाली के पूर्व सांसद बद्रीराम सर्किट हाउस से बाहर निकले तो टिकट को लेकर कुछ लोगों ने उनको खरी-खोटी सुना दी। इस पर पूर्व सांसद ने भी अपना आपा खो कर दिया। इस पर पूर्व सांसद के साथ कार्यकर्ताओं ने धक्का-मुक्की तक कर डाली। बाद में पुलिस और अन्य लोगों ने बीच-बचाव कर पूर्व सांसद को वहां से रवाना किया ।

क्या है कार्यकर्ताओं की नाराजगी की वजह?

दरअसल, नई पंचायत समितियों के गठन के कारण कई नये दावेदार भी सामने आ गये हैं। वहीं टिकट में कुछ बड़े नेताओं के हस्तक्षेप की वजह से भी कार्यकर्ता नाराज चल रहे हैं। पंचायत समिति मुखिया का चुनाव समिति सदस्यों और जिला प्रमुख का चुनाव जिला परिषद के सदस्यों के द्वारा किया जाता है । ऐसे में प्रधान और जिला प्रमुख पद के दावेदार अपनी-अपनी लॉबी के लोगों को टिकट दिलवाना चाह रहे हैं। पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ भी अपनी बेटी को जिला प्रमुख बनाने को लेकर सक्रिय हैं, क्योंकि जोधपुर जिला प्रमुख की सीट महिला के लिये आरक्षित है। लिहाजा पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ को टिकट को लेकर कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा। इसी नाराजगी के चलते पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ के साथ कार्यकर्ताओं के बीच नोकझोंक हो गई और बाद में वह धक्का-मुक्की में बदल गई ।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close