जयपुर। आसाराम प्रकरण का गवाह बने जोधपुर जिले में 9 से 12 साल की उम्र के बच्चे अब महिलाओं के खिलाफ किसी भी तरह की हिंसा में शामिल नहीं होने की शपथ लेंगे। यह शपथ हर निजी और सरकारी स्कूल में दिलाई जाएगी। बच्चों को महिलाओं के सम्मान करने और उनके अधिकारों की रक्षा के लिए जागरूक करने की यह एक मुहिम है। ये बच्चे ही भविष्य के युवा होंगे इसलिए उन्हें बचपन से ही महिलाओं को समानता का अधिकार रखने और किसी भी तरह की हिंसा या अत्याचार न होने देने के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

जोधपुर जिला प्रशासन ने इस बारे में सभी स्कूलों को निर्देश दिए है। शपथ में 9 बिंदु है जो महिलाओं के सम्मान से जुड़े है। इसमें कहा गया है, 'मैं महिलाओं के साथ किसी भी तरह की हिंसा में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से शामिल नहीं होउंगा।'

शपथ में यह बिंदु भी है, 'मैं दहेज नहीं लूंगा और इस कुप्रथा को समाज से मिटाने में सहयोग करूंगा।'

इसके साथ ही एक पोस्टर भी तैयार किया है। इस पोस्टर में फिल्म 'बाहुबली 2' का वह दृश्य है, जिसमें एक्टर प्रभास और एक्ट्रेस अनुष्का शेट्टी को धनुष बाण लिए दिखाया गया है। फिल्म के इस पोस्टर को एक सोशल मैसेज के लिए जोड़ा जा रहा है।

यह पोस्टर हर स्कूल में वितरित किया जाएगा ताकि यह स्त्री-पुरूष समानता का संदेश दिया जा सके। इसके जरिए यह बताया जा रहा है कि महिला और पुरुष को एक जैसा अधिकार है। उन्हें हर दृष्टि से समानता के साथ देखा जाना चाहिए। इस अभियान के तहत पूरे जिले के तीन लाख बच्चों को यह शपथ दिलाई जाएगी।

गौरतलब है कि जोधपुर जिला आसाराम मामले का गवाह बना। नाबालिग से दुष्‍कर्म मामले में जोधपुर कोर्ट ने बुधवार को आसाराम समेत सभी चार आरोपियों को दोषी करार दिया था। जोधपुर कोर्ट ने अासाराम को उम्र कैद की सजा और सह आरोपियों को 20-20 साल के कैद की सजा सुनाई थी।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस