जयपुर। राजस्थान के सीमावर्ती जैसलमेर जिले में स्थित पोखरण फील्ड फायरिग रेंज में युद्धाभ्यास के दौरान एक हादसा हो गया। युद्धाभ्यास के वक्त टैंक का बैरल जोरदार धमाके के साथ फट गया। बताया जा रहा है कि टैंक-90 'भीष्म में गोला, बैरल में ही रह जाने से यह दुर्घटना हुई।

जबकि हादसे की हकीकत जानने के लिए जांच शुरू कर दी गई है। हादसे के दौरान किसी जवान के हताहत होने की बात सामने नहीं आई है । सैन्य सूत्रों के अनुसार ऐसा पहली बार हुआ है कि सेना के सबसे शक्तिशाली माने जाने वाले टैंक 'भीष्म' का बैरल फटा हो। हादसा बुधवार देर शाम को उस समय हुआ, जब टी-90 रशियन युद्धक टैंक पोखरण फील्ड फायरिग रेंज में टैंक फायरिग प्रैक्टिस में हिस्सा ले रहा था ।

टी-90 युद्धक टैंक एक खास प्रकार का युद्धक टैंक है, जो रात में भी दुश्मन के ठिकानों पर हमला करने में सक्षम है । सेना पोखरण फील्ड फायरिग रेंज में युद्धाभ्यास के दौरान इन टैंकों की मारक क्षमता का परीक्षण कर रही है । सूत्रों के मुताबिक भारतीय सेना के पास वर्तमान में 1070 टी-90 टैंक हैं। सेना 2001 से इन टैंकों का इस्तेमाल कर रही है । पाकिस्तान से सटी राजस्थान की सीमा पर भी ये टैंक तैनात किए गए हैं।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket