राजस्थान में मंगलवार को एक भीषण सड़क हादसा हुआ जिसमें बारातियों से भरी एक बस मेज नदी में जा गिरी। इस हादसे को लेकर मिली जानकारी के अनुसार इसमें 25 लोगों की मौत हुई है। हादसे में कई अन्य घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इनमें से ज्यादातर की हालत गंभीर बताई जा रही है। हादसे के बाद राज्य सरकार ने दुर्घटना में मरने वालों के परिजनों के लिए 2-2 लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की है।

शुरुआती जानकारी के अनुसार, बारातियों से भरी यह बस कोटा से सवाई माधोपुर जा रही थी तभी रास्ते में एक पुल से गुजरते हुए असंतुलित होकर नदी में जा गिरी। हादसा राजस्थान के बूंंदी में में स्थित कोटा लालसोत मेगा हाईवे पर स्थित लाखेरी में हुआ है। तेज रफ्तार बस अचानक असंतुलीत होकर नदी में जा गिरी। हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर पुलिस को सूचना दी।

राजस्थान के बूंदी जिले के केशोरायपाटन इलाके में यात्रियों से भरी बस नदी में गिर गई। यह हादसा बूंदी में मेज नदी पर बनी पुलिया पर हुआ है। पुलिया पर सुरक्षा दीवार नहीं है। बताया जा रहा है कि बस में कोटा के एक परिवार के कुछ लोग शादी समारोह में भात लेकर जा रहे थे। बस में क्षमता से अधिक सवारियां थी। नदी पर बनी पुलिया पर ड्राइवर बस पर नियंत्रण नहीं रख सका और बस नदी में जा गिरी। मृतक किस परिवार के हैं, इस बारे में अभी पुष्टि नहीं हो पाई है।

सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने राहत और बचाव कार्य में तेजी लाते हुए शवों को बस से निकालने का काम शुरू किया। हादसे की सूचना मिलते ही भारी भीड़ घटनास्थल पर पहुंच गई। नदी में पानी होने की वजह से राहत और बचाव कार्य में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

हादसे के बाद मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने ट्वीट कर इस पर दुख जताते घायलों के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना भी की।

Posted By: Ajay Kumar Barve