भिंड। नईदुनिया प्रतिनिधि

जीवन वही श्रेष्ठ है, जो निष्कलंक हो। सुख वही श्रेष्ठ है, जिसे भोगने के बाद दुख नहीं हो। भोजन वही श्रेष्ठ जो निरामिष, शाकाहार हो। बेटा वहीं श्रेष्ठ जो सेवा करें और भाई वही श्रेष्ठ हो रक्षा करे। यह बात हाउसिंग कॉलोनी स्थित बद्रीप्रसाद की बगिया में चल रही धार्मिक सभा में आचार्य विशुद्ध सागर महाराज ने श्रद्धालुओं से कही। धर्मसभा में सांसद संध्या राय ने भी प्रवचनों का लाभ लिया। साथ ही अहिंसा ग्रुप ने सांसद का सम्मान किया। साथ ही झांसी-इटावा लिंक एक्सप्रेस का स्टापेज सोनागिरि में कराए जाने को लेकर ज्ञापन भी दिया।

महाराजश्री ने कहा कि हम प्रतिदिन तीर्थकर भगवान की पूजा करते हैं। अर्घ चढ़ाते हैं। नाम स्मरण, जाप करते हैं, लेकिन तीर्थकर किसे कहते हैं? इसे नहीं जान पाते। हमारी कितनी अज्ञानता रहती है किहम शास्त्रों को खोलकर बड़ी-बड़ी बातें तो पढ़ लेते हैं। ऊंची-ऊंची बातें सुना देते हैं, लेकिन धर्म की नींव स्वरूप इन बातों से अनभिज्ञ रहते है। उन्होंने कहा किजब हम छोटे बच्चों को तीर्थकर की परिभाषाएं समझाते हैं तो कहते हैं जिन्हें सभी इंद्र नमस्कार करते हैं वे तीर्थकर होते हैं, जिनके गर्भ, जन्म, तप, ज्ञान और निर्वाण यह पांच कल्याणक होते हैं उन्हें तीर्थंकर कहते हैं। आचार्य श्री ने कहा कि तीर्थकर पद प्राप्त करने वाले को असीम वैभव प्राप्त होता है केवल ज्ञान होने के बाद उनके लिए रत्नों के समवशरण की रचना होती है। उस पर स्वर्ण कमल का सिंहासन रखा जाता है, लेकिन तीर्थकर भगवान उस पर भी नहीं बैठते वे सिंहासन से चार अंगुल ऊपर अधर आकाश में रहते हैं चलते समय भी इंद्र कमलों की रचना करता है पर वे उस पर भी नहीं चलते अंगुल अधर आकाश में गमन करते है। ऐसे वैरागी तीर्थकर होते हैं और हम सभी कुछ न होते हुए भी संसार से विरक्त नहीं पा रहे हैं ।

धन-संपदा न के बराबर है :

आचार्यश्री ने कहा कितीर्थकर के वैभव के सामने तो हमारे पास की धन संपदा न के बराबर है, फिर भी हम उसी में रचे-पचे हैं और अपने दुर्लभ मनुष्य भव को यूं ही गंवा रहे हैंं । हम जो धन कमा रहे है वह यहीं छुट जाना है। साथ में यदि कुछ जाएगा तो मात्र जीवन भर किए गए पाप की गठरी, इसलिए मानव तुम धन नहीं धर्म कमाओं । पाप नहीं पुण्य करो । सारा जीवन धन कमाने के लिए दुकान पर ही नहीं व्यतीत करो। धर्म पुण्य के लिए मंदिर में भी आएं । गुरुओं के चरणों में भी आएं तभी हमारा जीवन सार्थक होगा।

फोटो सहित क्रमांक 9