हर साल केदारनाथ धाम में लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। यहां उनकी सुविधाओं के लिए लगभग हर इंतजाम है, लेकिन केदारनाथ में अब तक कोई एटीएम नहीं था जिसके कारण श्रद्धालुओं को नकदी की कमी होती थी तो उन्हें पूजा कराने से लेकर खरीददारी तक की जरूरतें पूरी नहीं कर पाते थे। लेकिन अब केदारनाथ मंदिर में आने वाले 35,000 से अधिक भक्तों को राहत देने के लिए, एचडीएफसी बैंक ने मंदिर परिसर में एक एटीएम खोला है, जो मंदिर के 24 किलोमीटर के दायरे में एकमात्र मनी-वेंडिंग मशीन है। केदारनाथ मंदिर में एचडीएफसी बैंक के एटीएम का अनावरण 2 अगस्त को किया गया। इस एटीएम का उद्घाटन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, एचडीएफसी बैंक के एमडी, आदित्य पुरी की उपस्थिति में किया गया। एचडीएफसी बैंक ने कहा कि समुद्र तल से 11,755 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह देश का सबसे ऊंचा एटीएम है।

एचडीएफसी बैंक ने अपने बयान में कहा, 'एटीएम हर दिन 35,000 से अधिक श्रद्धालुओं के साथ-साथ स्थानीय आबादी को 15 विभिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान करेगा। कैश निकालने के अलावा, इन सेवाओं में बिलों का भुगतान, क्रेडिट कार्ड बकाया राशि, और तत्काल ऋण शामिल हैं। एटीएम ग्राहकों को फंड डिपोजिट करने की भी अनुमति देगा, जो इस कठिन इलाके में एक शाखा की तरह काम कर रहा है।'

भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर, केदारनाथ मंदिर गढ़वाल हिमालय श्रृंखला में स्थित है। यह सीधे सड़क मार्ग से जुड़ा नहीं है। मंदिर तक पहुंचने में गौरीकुंड से 16 किमी की चढ़ाई है। भौगोलिक चुनौतियों को देखते हुए, एटीएम सभी मौसम में सेवाएं देने के लिए सैटेलाइट कनेक्टिविटी का उपयोग करता है।

खराब मौसम के कारण, मंदिर केवल अप्रैल और नवंबर के महीनों के बीच भक्तों के लिए खुला है। 2018 में रोजाना यहां पर 36 हजार तीर्थयात्री और एक साल में 7.32 लाख यात्री दर्शन करने के लिए आए थे।

बता दें कि पिछले काफी समय से यात्री केदारनाथ धाम पर एटीएम लगाने की मांग कर रहे थे। प्रशासन ने यात्रियों की दिक्कतों को देखते हुए केदारनाथ धाम में एटीएम लगाने की पहल शुरू की।

Posted By: Sonal Sharma

  • Font Size
  • Close