न्याय के देवता शनि देव (Shani Dev) वर्तमान में मकर (Capricorn) राशि में बने हैं। फिलहाल वे डेढ़ वर्ष और मकर राशि में रहेंगे। इसके बाद वह कुंभ (Aquarius) राशि में प्रवेश करेंगे। यह दोनों की राशियां शनि की है। अपनी राशियों में भ्रमण करने पर शनि देव हमेशा खुश रहते हैं। उनकी प्रसन्नता से मानव जीवन को लाभ होता है। वहीं समाज में न्याय और भाग्य को बल मिलेगा। शनि देव के आर्शीवाद से लोगों में उत्साह रहेगा व अधिकारों के प्रति भी सजग रहेंगे। जिन लोगों की कुंडली में शनि देव कारक ग्रह है। उनके लिए चार सालों में शुभ रहेंगे। महत्वपूर्ण कार्यों पूरे होने की प्रबल संभावना है। शनि देव विश्व में सकारात्मक बदलावों को बढ़ावा देंगे। साथ ही उच्च अफसरों को अधिक मेहनत और लगन से काम करने के लिए प्रेरित करेंगे। वहीं भ्रष्ट और बेईमान लोगों को सजा मिलेगी। बता दें शनिदेव सभी 12 राशियों का भ्रमण 30 वर्ष में पूरा करते हैं। वह एक राशि में ढाई साल रहते हैं। वर्तमान में शनि मकर राशि में गोचर है। शनिदेव के प्रभाव से समाज में गतिशीलता दिखाई देगी। राजनीतिक दलों को यह गोचर न्याय और जनकल्याण के लिए प्रेरित करेगा।

आइए जानते हैं कुछ उपाय जिससे न्याय के देवता प्रसन्न होंगे

- शनिवार को पीपल के पेड़ का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए भगवान शिव के मंत्र ऊं नमः शिवाय का 108 बार जाप करें। पीपल की पूजा से भगवान शिवजी प्रसन्न होते हैं और वह शनि के गुरु भी हैं। ऐसे में शनिदेव कष्ट नहीं देंते।

- हर शनिवार स्वच्छ वस्त्र पहन कर पीपल की जड़ पर जल अर्पित करे। वह सरसों के तेल का दीपक जलाएं। साथ ही पीपल की पांच बार परिक्रमा करनी चाहिए। इस उपाय से शनि देव की दशा का प्रभाव कम होता है।

- नियमित हनुमान चालिसा का पाठ करने से भी अनेक कष्टों का निवारण होता है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close