Astrology Tips: बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। ज्योतिष शास्त्र एवं सनातन धर्म में गौ सेवा का विशेष महत्व है। गाय को पवित्र जीव माना गया है। उसके भीतर 33 कोटि देवी-देवताओं का वास होता है। ज्योतिषियों का कहना है कि घर से निकलते वक्त यदि गौ माता के दर्शन कर उसे रोटी खिलाया जाए तो हर कार्य में सफलता मिलती है। संकट मिट जाते हैं। घर में धन की कभी कमी नहीं होती।

ज्योतिषाचार्य पंडित देव कुमार पाठक के अनुसार गौ माता में इतनी शक्ति होती है कि वह मनुष्य के सभी विपदाओं को हर लेती है। ज्योतिष शास्त्र में गाय को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें कही गई है। उनका पालन कर व्यक्ति उंचाइयों पर पहुंच सकता है। मानसिक व शारीरिक रूप से इंसान गौ सेवा करने के बाद स्वस्थ महसूस करता है। ग्रामीण अंचल में अक्सर देखने को मिलता है कि गौ सेवक ज्यादा बीमार भी नहीं पड़ते। गाय के शरीर में अद्भुत शक्तियां हैं। सुबह आफिस या किसी काम से निकलने से पहले गौ माता के दर्शन अवश्य करना चाहिए। खासकर गुरुवार के दिन गौ माता कहीं दिख जाए तो उसे सहलाना चाहिए। चारा, रोटी या अन्य चीजें उसे खिलानी चाहिए। इतना ही नहीं, सड़क पर यदि कोई गाय बीमार या दुर्घटनाग्रस्त मिले तो वहां से छोड़कर कभी नहीं जाना चाहिए। बल्कि उसके सामने ठहरकर उसकी सेवा करनी चाहिए।

इसके बाद व्यक्ति के जीवन में चमत्कारिक बदलाव दिखना शुरू हो जाता है। घर के दरवाजे पर गौ माता आए तो उसे खाली न लौटाएं। यह भी याद रखना चाहिए कि प्रत्येक मांगलिक कार्य में गौ माता को अवश्य शामिल करें। गौ माता को कभी पैर न लगाएं, गौ माता अन्न्पूर्णा देवी कामधेनु हैं, मनोकामना पूर्ण करने वाली हैं। गौ माता की पीठ पर एक उभरा हुआ कुबड़ होता है। उस कुबड़ में सूर्य केतु नाड़ी होती है। रोजाना सुबह गौ माता की पीठ पर हाथ फेरने से रोगों का नाश होता है। जो धैर्यपूर्वक धर्म के साथ गौ पूजन करता है उन्हें शत्रु दोषों से छुटकारा मिलता है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

  • Font Size
  • Close