Budh Gochar 2022: ग्रहों के राजकुमार बुध का गोचर होने जा रहा है। यह राशि परिवर्तन 3 दिसंबर 2022 को होगा। बुध देव वृश्चिक राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। बुध राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर प्रभाव पड़ेगा। हालांकि मिथुन और धनु राशिवालों के लिए गोचर फलदायी साबित होगा। मिथुन और धनु राशि की महिलाएं व पुरुषों के लिए समय उपयुक्त रहेगा। इस दौरान अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों को एक नई ऊर्जा प्राप्त होगी। स्वामी बुध की सकारात्मक दृष्टि पड़ेगी। प्रसन्नता और उत्साह का संचार होगा। आयुर्वेद का सहारा लेना आपके लिए उपयोगी होगा। फिजिकल फिटनेस के लिए कुछ समय निकाले।

धनु राशि

इस दौरान अटका हुआ काम पूरा होगा। पारिवारिक जीवन खुशहाल रहेगा। संतान पक्ष की ओर से शुभ समाचार मिल सकता है। नौकरी और व्यापार में लाभ प्राप्त हो सकता है। सुख के साधनों में बढ़ोतरी होगी। विदेश यात्रा का योग बनेगा।

बुध के कमजोर होने के लक्षण

- अगर कुंडली में बुध कमजोर है, तो सुंदरता पर इसका प्रभाव पड़ सकता है।

- यदि कुंडली में बुध कमजोर है तो किसी महत्वपूर्ण निर्णय लेने में परेशानी आ सकती है।

- बुध के कमजोर होने पर आपके परिवार से संबंध खराब होने लगेंगे।

- बुध के कमजोर होने पर नौकरी और बिजनेस में नुकसान हो सकता है। आपका अपनी वाणी पर काबू नहीं रहेगा, जिससे काम बिगड़ेंगे।

बुध को मजबूत बनाने के उपाय

- बुध ग्रह की शुभता को पाने के लिए बुधवार के दिन तुलसी का पौधा लगाएं।

- बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं।

- बुध ग्रह को मजबूत बनाने के लिए चौड़े पत्ते वाले पौधे लगाएं और दान करें।

- बुधवार के दिन किसी किन्नर को धन देकर उससे आशीर्वाद प्राप्त करने का प्रयास करें।

- बुधवार के दिन माता दुर्गा को हरे रंग की चूड़िया चढ़ाएं। साथ ही 9 कन्याओं को हरे रंग का रुमाल या ड्रेस बांटें।

- भगवान गणेश के मंदिर में जाकर हरी मूंग चढ़ाएं।

श्री बुध स्तुति

जय शशि नन्दन बुध महाराजा, करहु सकल जन कहं शुभ काजा।

दीजै बुद्धि बल सुमति सुजाना, कठिन कष्ट हरि करि कल्याणा।।

हे तारासुत रोहिणी नन्दर, चंद्रसुवन दुख द्वन्द्व निकन्दन।

पूजहिं आस दास कहुं स्वामी, प्रणत पाल प्रभु नमो नमामी।।

बुध ग्रह मंत्र

ऊँ नमो अर्हते भगवते श्रीमके मल्लि तीर्थंकराय कुबेरयक्ष।

अपराजिता यक्षी सहिताय ऊँ आं क्रों ह्रीं ह्रंः बुधमहाग्रह मम दुष्टग्रह। रोग कष्ट निवारणं सर्व शांति च कुरू कुरू हूं फट्।।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

यह भी पढ़ें-

Love Marriage Upay: लव मैरिज नहीं हो रही है, ये मंत्र करेगा मदद, आज से ही जप शुरू करें

Raj Yog: जीवन में सारे ऐश्वर्य देता है राजयोग, जानिए राशि के अनुसार कब मिलता है शुभ फल

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close