Dream Astrology: मनोविज्ञान में सपने आना एक आम बात होती है। लेकिन ज्योतिष शास्त्र सपनों को भविष्य के संकेतों से जोड़ता है। ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक सपना सत्य नहीं होता लेकिन स्वप्न सुबह सूर्योदय से पहले ब्रह्ममुहूर्त में आए तो वह निश्चित रूप से सत्य होता है। हालांकि मनोविज्ञान कहता है कि कई बार हम दिन में सोची-समझी गई बातों को ही सपनों के रूप में देखते हैं, कई बार मन में दबी हुई बातें सपना बनकर दिखती हैं। ज्योतिष में ऐसे कई संकेत भी दिए गए हैं जिनके आधार पर आप अपने सपने का अर्थ जान सकते हैं। जानिए ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में

भगवान को देखना

यदि आपको सपने में अपने इष्ट देवी-देवता दिखाई देते हैं तो यह बेहद शुभ स्वप्न माना जाता है। ऐसे सपने आपके जीवन में होने वाले सकारात्मक प्रभाव की ओर संकेत करते हैं। इस तरह के सपनों का अर्थ है कि बहुत जल्द आपका अच्छा समय शुरू होने वाला है।

हाथी, गाय, मोर या तोते को देखना

यदि आपको सपने में हाथी, मोर, तोता या गाय दिखाई देती है तो यह सपना आपके जीवन में आने वाली खुशहाली का दर्शाता है। अगर आप बहुत सारी समस्याओं से घिरे हुए हैं तो ऐसा सपना आना आपकी सभी समस्याओं के दूर होने संकेत देता है। इस तरह के सपने आपके जीवन धनलाभ, नौकरी, व्यापार में तरक्की और एक बेहतर जीवन की ओर इशारा करते हैं।

मंदिर या धार्मिक स्थल देखना

सपने में किसी धार्मिक जगह या विशेषकर मंदिर को देखना बेहद शुभ माना गया है। इस तरह के सपने आपके परिवार में किसी धार्मिक आयोजन या मांगलिक कार्य की ओर भी इशारा करते हैं। यदि व्यक्ति मंदिर में खुद को कीर्तन करते हुए देखें तो निश्चित रूप से वह किसी न किसी धार्मिक कार्य में भाग लेगा। अथवा उसके खुद के घर में कोई धार्मिक कार्यक्रम होगा।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close