Ganesh Chaturthi Upay: हिंदू धर्म में हर शुभ कार्य से पहले भगवान गणेश की पूजा का महत्व है। एकदंत को प्रथम पूज्य कहा जाता है। इस बार गणेश उत्सव 31 अगस्त से शुरू हुआ, जो 9 सितंबर तक रहेगा। अनंत चतुर्दशी के लिए कुछ दिन बचे हैं। ज्योतिषाचार्य के अनुसार गणेश उत्सव के दौरान कुछ सरल उपाय किए जाएं तो हर कष्ट से छुटकारा मिल सकता है। साथ ही जातकों का भाग्य बप्पा की कृपा से पर बदल जाता है। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।

- गणेश उत्सव के दौरान सुबह स्नान करें। फिर भगवान गणेश की प्रतिमा का जल से अभिषेक करें। गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करें। प्रसाद का भोग लगाएं।

- गणेश विसर्जन से घर में गणेश यंत्री की स्थापना करें। इस यंत्र की स्थापना व पूजा करने से लाभ होता है। इस यंत्र के रहने से बुरी शक्ति घर में प्रवेश नहीं करती।

- हाथी को हरा चारा खिलाएं। मंदिर जाकर भगवान गणेश से कष्टों को दूर करने के लिए प्रार्थना करें।

- भगवान श्रीगणेश को घी और गुड़ का भोग लगाएं। फिर इससे गाय को खिला दें। ये उपाय धन संबंधी समस्या को दूर करता है।

- भगवान गणपति को 21 गुड़ की ढेली के साथ दूर्वा चढ़ाएं। इस उपाय को करने से विनायत सभी इच्छा पूरी करते हैं।

- विघ्रहर्ता को हल्दी की पांच गठान ऊं गं गणपतये नमः मंत्र का उच्चारण करते हुए चढ़ाएं। इसके बाद 108 दूर्वा पर हल्दी लगाकर श्री गणाधिपतये नमः जप कर चढ़ाएं। इस उपाय में नौकरी और व्यापार में सफलता मिलती है।

- अगर विवाह नहीं हो रहा है, तो भगवान श्रीगणेश को मालपुए या पीले रंग की मिठाई का भोग लगाए।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close