Good Friday 2020: गुड फ्रायडे, प्रभु यीशु के त्याग और बलिदान का दिन है। आज ही के दिन कुछ अधार्मिक लोगों ने उनके अमृत वचनों और उनके द्वारा धर्म और समाज के लिए किए जा रहे नेक कार्यों से खीझकर उनको सूली पर लटका दिया था। प्रभु य़ीशु काफी नेक दिल इंसान थे और क्षमा के सिवाय उनके पास जीवन में कुछ था भी नही इसलिए उन्होंने उनको सूली पर लटकाने वाले लोगों को भी परमपिता से क्षमा की अपील की थी। जिस दिन उनको सूली पर चढ़ाया गया था उस दिन फ्रायडे था। इसलिए इस दिन को गुड फ्रायडे के रूप में मनाया जाता है।

लॉकडाउन में घर पर करें प्रार्थना

सामान्यत: गुड फ्रायडे के अवसर पर ईसाई धर्म को मानने वाले लोग चर्च में इकट्ठा होकर कार्यक्रम का आयोजन करते हैं, लेकिन इस बार कोरोना वायरस का खौफ हर कहीं छाया हुआ है इसलिए देशभर में जारी लॉकडाउन की वजह से हर शख्स घरों में कैद होकर रह गया है। इसलिए इस बार दूसरे धर्म के त्यौहारों की तरह गुड फ्रायडे भी घर की चारदिवारी में ही मनाया जाएगा। यह सादगी और त्याग का त्यौहार है इसलिए इसको मनाने के लिए कोई विशेष इंतजाम बाजार जाकर करने की भी जरूरत नहीं है।

प्रभु यीशु को याद कर अर्पित करें श्रद्धासुमन

गुड फ्रायडे का पर्व प्रभु यीशु को श्रद्धांजली देने और उनके बलिदान के याद करते हुए उनके श्रद्धासुमन अर्पित करने का है। इसलिए इस दिन घर से निकले बगैर आप घर पर ही ईसा मसीह को याद करते हुए उनके लिए प्रार्थना कर सकते हैं। घर पर कैंडल तो मिल ही जाती है। इसलिए प्रभु यीशु को याद करते हुए कैंडल को जलाया जाता है। इसके साथ ईसा मसीह के लिए ईसाई धर्मावलंबी उपवास रखते हैं, जो व्यक्ति की भक्ति और सामर्थ्य के अनुसार 40 दिनो तक हो सकता है। इसलिए लॉकडाउन में आप बड़ी सादगी के साथ गुड फ्रायडे का पर्व अपने घर में मना सकते हैं और प्रभु यीशु को सच्चे श्रद्धासुमन अर्पित कर सकते हैं।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना