Budh Gochar 2022: नवरात्रों में वैसे भी पूजा-पाठ का माहौल होता है और देवी की नौ रुपों की पूजा से सभी ग्रहों से जुड़े दोष दूर हो जाते हैं। इस पावन माहौल में ग्रहों की स्थिति में भी सकारात्मक परिवर्तन हो रहे हैं। नवरात्रि के छठे दिन बुध मार्गी होने जा रहे हैं। ज्योतिष में किसी भी ग्रह का वक्री होना बहुत शुभ नहीं माना जाता है और इस दौरान अच्छे और बुरे दोनों तरह के प्रभाव पड़ते हैं। लेकिन शुभ ग्रह अगर मार्गी हों, तो जातकों को ज्यादा शुभ परिणाम मिलते हैं। षष्ठी के दिन यानी 22 अक्टूबर को ग्रहों के राजकुमार बुध मार्गी होने वाले हैं। ज्योतिष में बुध को शुभ ग्रह माना जाता है और फलादेश में इसे विशेष स्थान प्राप्त है। बुध के शुभ होने पर व्यक्ति का सोया हुआ भाग्य भी जाग जाता है और कारोबार में शानदार तरक्की होती है। तो चलिए आपको बताते हैं बुध के मार्गी होने से आपकी राशि पर क्या पड़ेगा असर :-

मेष राशि

स्वास्थ्य में सुधार होगा। बैंकिंग, डेटा, अकाउंट्स, कारोबार आदि से जुड़े लोगों के जीवन में आ रही बाधाएं दूर हो जाएंगी और आर्थिक उन्नति का रास्ता खुलेगा। शैक्षिक कार्यों में मन लगेगा। ये समय मुख्य तौर से आपकी शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए बेहद उत्तम है।

वृष राशि

आपके लिए बुध का गोचर बहुत अनुकूूल है। जनससंचार, लेखन, भाषा आदि से जुड़े लोगों के लिए शुभ परिणाम मिलेंगे। शैक्षिक कार्यों में सुधार होगा और शिक्षा से जुड़ी बाधाएं दूर होंगी। बेहतर संचार और वाणी की मदद से आप रोजगार में कामयाबी हासिल करेंगे। आय में भी वृद्धि होगी।

मिथुन राशि

बुध आपके लग्न के स्वामी हैं और चतुर्थ भाव में मार्गी हो रहे हैं। माता, वाहन, भूमि से जुड़े मामलों में सभी बाधाएं दूर होंगी। घर-परिवार का माहौल अच्छा रहेगा और पारिवारिक मामलों में मानसिक शान्ति‍ महसूस करेंगे। संपत्ति या वाहन खरीदने के लिए ये समय बहुत अनुकूल है।

कर्क राशि

आपके तीसरे भाव में बुध मार्गी हो रहे हैं। छोटी-मोटी यात्राओं का योग है। संघर्ष बढ़ेगा। किसी को समझाने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है। छोटे भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। लेखक, संचार, कलाकार, फिल्म, मीडिया आदि से जुड़े लोगों के लिए बहुत अनुकूल समय रहेगा।

सिंह राशि

बुध आपके दूसरे भाव में मार्गी हो रहे हैं। आपका बैंक बैलेंस तेजी से बढ़ेगा। पुराने नुकसान की भरपाई होगी। वाणी की वजह से हुई पिछली गलतियां ठीक करने का समय है। परिवार के साथ अच्छा समय गुजारेंगे। वित्त, वाणिज्य के क्षेत्र में काम करनेवालों के लिए बहुत अच्छा समय है। परिस्थितियां आपको अनुकूल रहेंगी।

कन्या राशि

बुध आपके लग्न भाव में स्थित हैं। स्किन एलर्जी या त्वचा से जुड़े रोगों के प्रति सावधान रहें। व्यक्तित्व में सकारात्मक बदलाव आएगा और आप अपनी वाणी के किसी का भी दिल जीत सकते हैं। मार्केटिंग, सेल्स वालों के लिए ये समय उत्तम है। अपने स्वास्थ्य को लेकर जरुर सचेत रहें।

तुला राशि

द्वाजश भाव में बुध आपको विदेशी भाषा या संपर्कों की मदद से लाभ देंगे। मल्टीनेशनल कंपनियों में काम करनेवालों को विदेश यात्रा का मौका मिल सकता है। आपके खर्च में वृद्धि होगी, इसका ध्यान रखें। आयात-निर्यात का काम करनेवालों के लिए मुनाफे की स्थिति बनने के योग हैं।

वृश्चिक राशि

बुध आपको एकादश भाव में मार्गी हो रहे हैं। आय में उम्मीद से ज्यादा वृद्धि होगी। अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें और बच्चों की शिक्षा में व्यवधान के लिए तैयार रहें। ये अवधि आपकी इच्छाओं की पूर्ति का है। जीवन में बन रही अनिश्चितता खत्म हो जाएगी और जो चाहते हैं, वो आपको मिल जाएगा।

धनु राशि

बुध आपके दशम भाव में मार्गी हो रहे हैं। आपके करियर, कारोबार में बढ़ोतरी या तरक्की के संकेत हैं। कार्यक्षेत्र में सभी बाधाएं दूर होंगी और बहुत लाभ के योग बन रहे हैं। जीवनसाथी के स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें। पिता का सहयोग मिलेगा। सरकारी नौकरी कर रहे लोगों को अपने अधिकारियों का सहयोग और प्रशंसा मिलेगी।

मकर राशि

मार्गी बुध आपके भाग्य स्थान का स्वामी होकर अपने ही घर में विराजमान है। इस अवधि में आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। धार्मिक कार्यों में रुचि रहेगी। लंबी यात्रा के योग भी बन रहे हैं। पिता को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। कोई भी काम शुरु करने से पहले अपने पिता या गुरुजनों का आशीर्वाद जरुर लें।

कुंभ राशि

आपको जीवन में अचानक होनेवाली घटनाएं अब कम परेशान करेंगी। आपका मन अध्यात्म की ओर जाएगा और पूजा-पाठ या गुप्त विद्याओं में रुचि बढ़ेगी। स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें। शोध करनेवाले छात्रों के लिए ये उत्तम समय है।

मीन राशि

बुध का गोचर आपके पारिवारिक और व्यवसायिक, दोनों की क्षेत्रों में अत्यंत लाभकारी होगा। आपके करियर में तरक्की होगी। साझेदारी में अच्छा मुनाफा होगा और दांपत्य जीवन में खुशहाली आएगी। मानसिक तनाव और सभी चिंताओं से आपको मुक्ति मिलनेवाली है।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close