Name Astrology: हर व्यक्ति के नाम का बहुत महत्व होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हर अक्षर किसी न किसी ग्रह से जुड़ा होता है। हर जातक के नाम का प्रभाव उसके जीवन पर जरूर पड़ता है। इसमें से कुछ ऐसे अक्षर होते है। जिनसे शुरू होने वाले नाम के लड़के आसानी से लड़कियों को अपनी ओर आकर्षित कर लेते हैं। ऐसे लोगों को जीवन में बहुत प्यार और सम्माम मिलता है। ये लड़के किसी भी युवती का दिल चुटकियों में जीत लेते हैं। आइए जानते हैं कौन-कौन है वो अक्षर।

A अक्षर से शुरू होने वाले नाम के लड़के

जिन लड़कों का नाम A अक्षर से शुरू होता है। उनका व्यक्तित्व स्मार्ट होता है। वे बहुत शांत होते हैं और झगड़ों से दूर रहते हैं। वे दिल के बहुत साफ होते हैं। दूसरों की भावनाओं का सम्मान करते हैं। ये अपने जीवनसाथी का बहुत ख्याल रखते हैं। साथ ही हमेशा खुश रखने की कोशिश करते हैं।

K अक्षर से शुरू होने वाले नाम के लड़के

जिन लड़कों का नाम अक्षर से शुरू होता है। वे बहुत मिलनसार होते हैं। देखने में भी बहुत आकर्षक होते हैं। ये किसी भी रिश्ते को बखूबी निभाना जानते हैं। ये लड़के कभी किसी लड़की को धोखा नहीं देते हैं। जिससे कोई भी लड़की तुरंत इनकी ओर आकर्षित हो जाती है।

N अक्षर से शुरू होने वाले नाम के लड़के

जिन लड़कों का नाम N अक्षर से शुरू होता है। वे बहुत ही रोमांटिक होते हैं। सभी की भावनाओं की कद्र करते हैं। वे बहुत ही समझार होते हैं। सभी काम पूरे मन से करते हैं। उनका दांपत्य जीवन काफी खुशहाल होता है। अपनी पत्नी से बहुत प्यार करते हैं। उनकी जरूरतों का पूरा ख्याल रखते हैं।

P अक्षर से शुरू होने वाले नाम के लड़के

जिन लड़कों का नाम P अक्षर से शुरू होता है। वे स्वभाव से बहुत शांत और मिलनसार होते हैं। ये लड़के बहुत संस्कारी होते हैं। सभी की भावनाओं का ख्याल रखते हैं। जिसके चलते कोई भी लड़की इनके प्रति आकर्षित हो जाती है और अपना दिल दे बैठती है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close