Navratri 2021 Kalash Sthapana: मां दुर्गा ने नौ रूपों की आराधना का उत्सव नवरात्रि 7 अक्टूबर 2021 से शुरू हो चुका है। अश्विन माह की नवरात्रि में मां शक्ति की उपासना करने के साथ पर्व मनाया जाता है। घर में घट स्थापना करने के साथ जगह-जगह माता की प्रतिमा स्थापित की जाती है। दशहरा के दिन इन मूर्तियों का विसर्जन किया जाता है। इस साल दशहरा 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा। अश्विन माह की प्रतिपदा से नवरात्रि की शुरुआत होती है। इसी दिन घट स्थापना की जाती है। इस वर्ष 7 अक्टूबर को घट स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 17 मिनट से 10 बजकर 11 मिनट तक रहेगा। वहीं अभिजीत मुहूर्त 11 बजकर 46 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक रहेगा।

ऐसे करें घट स्थापना

घट स्थापना करने के लिए मिट्टी के बर्तन में सात प्रकार के अनाज रखें। फिर कलश में पानी भरकर उसे मिट्टी के पात्र के ऊपर रख दें। अब कलश के ऊपर पत्ते रखें और लाल वस्त्र में नारियल बांध कर रखें। अब भगवान गणेश व कलश की पूजा कर देवी का आह्वान करें।

डोली में सवार होकर आ रही मां दुर्गा

नवरात्रि को लेकर इस साल की स्थितियां शुभ नहीं है। इसके मुख्य दो कारण है। पहला कि नवरात्रि गुरुवार से आरंभ हो रही है। जब नवरात्रि गुरुवार से शुरू होती है। तब इसका मतलब है कि मां दुर्गा डोली में सवार होकर आएगी। मां दुर्गा की डोली की सवारी शुभ नहीं मानी जाती। दूसरा अशुभ कारण दिनों का घटना है। नवरात्रि 9 दिनों की होती है, लेकिन इस वर्ष हिंदू पंचांग के मुताबिक पर्व आठ दिनों का है।

नवरात्रि 2021 की तिथियां

Posted By: Arvind Dubey