Palmistry: ज्योतिष शास्त्र की कई शाखाएं हैं। जिसमें हस्तरेखा, अंकशास्त्र, समुद्र विज्ञान और जन्म कुंडली शामिल हैं। जिनके माध्यम से व्यक्ति के बारे में भविष्यवाणियां की जा सकती है। हस्तरेखा में हाथ की हथेली पर खड़ी, क्षैतिज रेखाओं और पहाड़ियों का अध्ययन किया जाता है। हाथ की हथेली की कुछ रेखाओं को विशिष्ट नाम दिए गए हैं। इससे कोई जीवन, संसाधन, करियर और परिवार के बारे में तर्क दिया जाता है।

हाथ की हथेली पर कई रेखाएं होती हैं। जिनमें मुख्य हैं धनरेखा, जीवनरेखा, हृदयरेखा और विष्णुरेखा। ऐसा माना जाता है कि जिस व्यक्ति के हाथ में विष्णु रेखा होती है। उसे भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। साथ ही उन्हें जीवन की सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त होती हैं। जिन जातकों की हथेली पर विष्णु रेखा होती है। उन्हें जीवन में कभी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।

हथेली में विष्णु रेखा कहां है?

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जब कोई रेखा किसी व्यक्ति की हथेली की हृदय रेखा से निकलकर गुरु पर्वत पर जाती है। यह हृदय रेखा दो भागों में बंट जाती है। तब उसे विष्णु रेखा कहा जाता है। जिन लोगों के हाथ में विष्णु रेखा होती है। वह महंगी चीजें खरीदने के शौकीन होते हैं। इनकी आर्थिक स्थिति हमेशा मजबूत होती है। कार्यक्षेत्र में बड़ा पद और समाज में बहुत मान-सम्मान मिलता है।

चुनौती का हटकर सामना करते हैं

जिन लोगों की हथेली पर विष्णु रेखा होती है। वे साहसी और निडर होते हैं। वे हर चुनौती का डटकर सामना करते हैं। समाज में अपनी अलग पहचान भी बनाते हैं। साथ ही ये व्यक्ति खुले विचारों वाले और मुखर होते हैं। जिस लक्ष्य के बारे में सोचते हैं। उसे हासिल करने के बाद ही रुकते हैं।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close