Palmistry News: हस्तरेखा ज्योतिष की शाखा है। यह हथेली पर बनी रेखाओं और चिन्हों को समझकर व्यक्ति के जीवन के बारे में जानकारी देता है। हस्तरेखा शास्त्र में हाथ की रेखाओं और प्रतीकों को देखकर किसी के भविष्य या जीवन का अंदाजा लगाया जा सकता है। जीवन में किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कर्म का प्रभाव सबसे महत्वपूर्ण होता है। हस्तरेखा शास्त्र में कुछ ऐसी रेखाओं और चिन्हों की सूची दी गई है। जिन्हें दुर्भाग्य का कारण माना जाता है। आइए जानें कि रेखाएं और प्रतीक क्या हैं।

ये रेखा होती है अशुभ

अगर किसी की हथेली में कई छोटी रेखाएं जीवन रेखा को काटती हैं, तो उन्हें शुभ नहीं माना जाता है। इन रेखाओं के संदर्भ में कहा जाता है कि जिस स्थान पर ये रेखाएं जीवन रेखा को काटती हैं। उसी उम्र में जातकों को बीमारी और दुर्घटना जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

द्वीप चिन्ह

यदि किसी व्यक्ति की हथेली में पर्वत या द्वीप हो तो यह अशुभ होता है। हालांकि पहाड़ पर बनी हर रेखा और द्वीप का एक अलग अर्थ होता है। द्वीप जैसे चिह्न वाली रेखा या पर्वत का प्रभाव कमजोर होता है। यह आपके जीवन में धन, स्वास्थ्य, प्रतिष्ठा आदि से संबंधित समस्याओं का कारण बनता है।

अनामिका पर क्षैतिज रेखाएं

किसी शख्स की अनामिका पर बहुत सी क्षैतिज रेखाएं है, तो यह अपशकुन का संकेत है। यह व्यक्ति के सम्मान और प्रतिष्ठा को नष्ट कर सकता है। साथ ही यदि किसी व्यक्ति के हाथ पर काले धब्बे हों तो यह शुभ संकेत नहीं माना जाता है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close