Rashifal Upay 03 October 2022: ज्योतिष (Astrology) में ग्रहों की दशा से भविष्यफल का अनुमान लगाया जाता है। ज्योतिषाचार्य यह देखने में सक्षम होते हैं कि किस राशि वालों के लिए कोई दिन कैसा रहेगा? पं. प्रभु दयाल दीक्षित बताते हैं कि ज्योतिष विज्ञान यह भी देखने में सक्षम है कि ग्रह दशा के बुरे प्रभावों से कैसे बचा जा सकता है? ये उपाय बहुत सामान्य होते हैं। बहुत आसान विधि से इनको पूरा करके बुरे प्रभावों को कम किया जा सकता है।

3 अक्टूबर 2022, सोमवार के दिन किए जाने वाले उपाय

मेष (Aries): सेहत को बेहतर बनाने के लिए भोजन करते समय तांबे या सोने (अगर संभव हो तो) के चम्मच का ही प्रयोग करें।

वृष (Taurus): पक्षियों में दाना डालने से लव लाइफ में सकारात्मक असर होगा।

मिथुन (Gemini): 1 लाल मिर्च, 27 मसूर की दाल के दाने तथा 5 लाल फूल लेकर बजरंग बली के मंदिर में चढ़ाएं। इससे पारिवारिक जीवन की खुशियां बढ़ेंगी।

कर्क (Cancer): इत्र, खुशबू, अगरबत्ती, कपूर का दान करें। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी।

सिंह (Leo): दूध से भरा बर्तन सिरहाने रखें और सुबह घर से बाहर स्थिति पेड़ में अर्पित करने से बीमारियां दूर होंगी।

कन्या (Virgo): साबुत हल्दी को बहते जल में प्रवाहित करें। सेहत पर चमत्कारी असर पड़ेगा।

तुला (Libra): सूर्य की आराधना करें। जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर है, वो सूर्य चालीसा का पाठ करें।

वृश्चिक (Scorpio): गणेश जी को दूर्वा चढ़ाने से रूका हुआ धन प्राप्त होगा।

धनु (Sagittarius): ऑफिस या दुकान पर जाने से पहले मस्तक पर केसर का तिलक लगाएं। उत्तरोत्तर उन्नति होगी।

मकर (Capricorn): लहसुन या प्याज की गाँठ बहते जल में प्रवाहित करें। जीवन में कभी पैसों की कमी नहीं होगी।

कुंभ (Aquarius): किसी भी गरीब कन्या को हरे कपड़े दान करें। ऐसा करने प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे।

मीन (Pisces): बजरंग बली के मंदिर में जाएं और गुड-चने का प्रसाद चढ़ाएं। सेहत में सुधार होगा।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close