Shagun Apshagun: भारतीय संस्कृति आज की संस्कृति नहीं है बल्कि यह सदियों से चली आ रही संस्कृति है। इस संस्कृति में कई प्रकार की मान्यताएं विद्यमान हैं, जो आज भी मानी जाती हैं। ऐसी ही एक मान्यता शुभ-अशुभ यानी अपशगुन को लेकर होती है। जी हां धर्म ग्रंथों में भी कई ऐसे संकेत बताए गए हैं, जिसके द्वारा आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि आप जो कार्य कर रहे हैं उसमें सफल होंगे या नहीं। इन्हीं संकेतों को शगुन-अपशगुन कहा जाता है। आज हम आपसे कुछ ऐसे ही अपशगुन के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं, जिसके हो जाने के बाद आपके साथ बुरा हो जाता है।

दरअसल शगुन-अपशगुन एक ऐसी प्रकृति होती है, जो जाने अनजाने हमसे या हमारे आस-पास घटित हो जाती है जिसे देखकर हमें अंदाजा हो जाता है कि अब हमारा कार्य सफल नहीं हो पाएगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर आपसे या आपके सामने कुछ अपशगुन घटना घटित हुई है तो उसका तुरंत उपाय करके आप उसे शगुन में परिवर्तित कर सकते हैं। जी हां यहां पर हम आपको कुछ ऐसे अपशगुन होने पर किए जाने वाले उपाय बताने जा रहे हैं जिसे करने के बाद आप अपशगुन को शगुन में बदल सकते हैं तो चलिए जानते हैं उन उपायों के बारे में

ऐसे ही और भी कई प्रकार के अपशगुन हैं जिनके होने पर आपके बनते हुए काम बिगड़ जाते हैं लेकिन अगर आप इन अपशकुनों के होने पर नीचे दिए गए इन दों उपायों में से कोई भी एक कर लें या दोनो ही कर लें तो आप पर इन अपशकुनों का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा। तो चलिए जानते हैं इन दो उपायों के बारे में।

ऊपर दिए गए अपशगुन होने पर तुरंत गायत्री मंत्र का जाप कर लें बाधा टल जाएगी।

कोई भी अपशगुन होने पर आप भगवान श्री गणेश का ध्यान कर लें अपशगुन, शगुन में बदल जाएगा।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags