Shukra Gochar 2022: शुक्र ग्रह का राशि परिवर्तन एक निश्चित अवधि में होता है। इसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है। शुक्र का राशि परिवर्तन कुछ राशि वालों के लिए शुभ व कुछ के लिए दुखदायी साबित होता है। 7 अगस्त को शुक्रदेव ने मिथुन राशि से निकलकर कर्क राशि में प्रवेश किया। इस राशि में शुक्र 31 अगस्त तक गोचर करेंगे। शुक्र को शुभ ग्रह माना गया है। इसके प्रभाव से जातक को भौतिक, शारीरिक और वैवाहिक सुखों की प्राप्ति होती है। शुक्र वृषभ और तुला राशि का स्वामी है। मीन इसकी उच्च राशि और कन्या नीच राशि है। शुक्र को भरणी, पूर्वा फाल्गुनी और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्रों का स्वामित्व प्राप्त है। आइए जानते हैं शुक्र का राशि परिवर्तन किन राशियों के लिए लाभदायक है।

वृषभ

शुक्र का गोचर आपके लिए लाभकारी साबित होगा। रुके हुए धन की वापसी हो सकती है। वाहन या कोई महंगी वस्तु की खरीदारी कर सकते हैं। आपका योगदान संबंधों को मजबूत करने और उसे विशेष महत्व देने में रहेगा। युवा अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उचित प्रयास करेंगे। किसी गुप्त योजना के शिकार हो सकते हैं। प्रेम संबंधों में चल रही गलतफमियां दूर होंगी।

कन्या

कन्या राशियों के लिए शुक्र का गोचर शुभ रहेगा। यह समय आपके लिए वरदान है। करियर में उन्नति होगी। लाभकारी यात्रा के योग बनेंगे। इसके माध्यम से उपयुक्त अवसर भी प्राप्त होंगे। आप परिवार की सुख-सुविधाओं में योगदान देंगे। गलतफहमी के कारण रिश्ते में दरार आ सकती है। मन में निराशा रहेगी। व्यवसाय में अपने उत्पाद की गुणवत्ता में सुधार करें।

तुला

शुक्र गोचर से आपके जीवन में सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। इस अवधि में धन लाभ हो सकता है। किसी प्रियजन से शुभ समाचार मिल सकता है। दांपत्य जीवन में मधुरता रहेगी। कोई संपत्ति खरीदने का कार्यक्रम है, तो उसपर गंभीरता से विचार करें। गलत कदम और आलोचना में अपना समय बर्बाद न करें। सामाजिक गतिविधियों में महत्वपूर्ण योगदान रहेगा।

वृश्चिक

आपको साहस में वृद्धि होगी। इस दौरान कठिन फैसले लेने में समर्थ होंगे। परिवार के सदस्यों का सहयोग मिलेगा। संतान की ओर से शुभ समाचार मिल सकता है। मानसिक शांति मिलेगी। व्यापार में कुछ लाभकारी निर्देश मिलेंगे। आप बातचीत से सभी बाधाओं को पार करेंगे। खास लोगों से मुलाकात होगी। जीवनसाथी आपके काम में साथ देगा।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close