Surya Gochar 2022: ज्योतिष में सूर्य को सबसे बली और परिणाम देनेवाला माना जाता है। जिसकी कुंडली में सूर्य बली होता है, उसका शनि जैसे अशुभ ग्रह भी बाल बांका नहीं कर सकते। वहीं बुध को राजकुमार माना जाता है। सूर्य के साथ जब बुध होता है, तो राजा और राजकुमार एक साथ किसी राशि के लिए शुभ परिणाम देने लगते हैं। ऐसे में आप समझ सकते हैं कि जातक के लिए ये कितना शुभ फलदायी हो सकता है। दूसरी बात ये है कि सूर्य के साथ दूसरे ग्रहों की शक्ति कम हो जाती है, लेकिन बुध के साथ सूर्य के संयोग से बुधादित्य योग बनता है, जिसे ज्योतिष में बेहद शुभ माना जाता है। इस महीने एक तरफ सूर्य, पूरे साल भर के बाद फिर अपनी स्वराशि में गोचर करनेवाले हैं, तो दूसरी तरफ सिंह राशि में ही बुध के साथ संयोग कर बुधादित्य योग बनाने वाले हैं। स्वराशि में सभी ग्रह बलवान होते हैं। ऐसे में बलवान सूर्य अगर बुध के साथ मिले, तो कई राशियों की जिन्दगी में चमत्कारिक बदलाव ला सकता है।

सूर्य का गोचर

सूर्य देव पूरे एक वर्ष के बाद अपनी स्वराशि सिंह में गोचर करने वाले हैं। सूर्य का ये गोचर 17 अगस्त 2022, बुधवार की सुबह 7 बजकर 14 मिनट पर होगा। सूर्य इस सिंह राशि में 17 सितंबर 2022 तक स्थित रहेंगे, फिर अगली राशि में अपना गोचर आरंभ करेंगे। यानी 17 अगस्त से 17 सितंबर का पूरा एक महीना जातकों के लिए बहुत शुभ परिणाम देनेवाला है। वैसे तो समस्त राशियों को ज्यादातर अनुकूल प्रभाव मिलने की संभावना बनेगी, लेकिन जिन जातकों की कुंडली में सूर्य की स्थिति अनुकूल है, उन जातकों को बेहद अनुकूल फल मिलेंगे।

बन रहे हैं बेहद शुभ योग

17 अगस्त को जब सूर्य देव कर्क राशि से निकलकर अपनी ही राशि सिंह में प्रवेश करेंगे, तब वृषभ में मौजूद मंगल की चतुर्थ दृष्टि सूर्य पर पड़ेगी। सूर्य और मंगल दोनों के ही अग्नि तत्व ग्रह होने के चलते सूर्य पर मंगल की इस दृष्टि का प्रभाव, जातकों की ऊर्जा को अत्यधिक बढ़ा देगा। वहीं सिंह राशि में पहले से मौजूद बुध के साथ सूर्य की शुभ युति होगी, जिसे बुधादित्य योग कहा जाता है। इस योग के कारण जातक विद्या, बुद्धि और वाणी के क्षेत्र में भी शानदार उपलब्धियां और मान-सम्मान हासिल करेगा। इसके कुछ ही दिनों बाद यानी 31 अगस्त को भौतिक सुखों के देवता व शुभ ग्रह शुक्र का भी गोचर सिंह राशि में ही होगा। ऐसे में ये संयोग जातकों के लिए बेहद शुभ परिणाम देनेवाला साबित हो सकता है।

जो चलिए जानते हैं किन राशियों के लिए अनुकूल रहेगा सूर्य का गोचर -

मेष राशि

सूर्य का ये गोचर आपके पांचवें भाव यानी शिक्षा, संतान, विद्या-बुद्धि और प्रेम-संबंधों के भाव में हो रहा है। पंचमेश सूर्य आपके लिए बेहद शुभ है और आपको सभी क्षेत्रों में अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे। विद्यार्थियों को परीक्षा में कामयाबी मिलेगी। संतान को अच्छी नौकरी, विदेश में शिक्षा या पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में अवार्ड मिलने की संभावना है। रिसर्च, शिक्षण, मीडिया, सलाहकार आदि क्षेत्र के जुड़े लोगों को करियर में तरक्की मिलेगी। आर्थिक रूप से भी धन का प्रवाह अच्छा रहेगा। कार्यक्षेत्र में सहकर्मियों एवं वरिष्ठों से आपके संबंध बेहतर होंगे।

सिंह राशि

सूर्य आपकी ही राशि में गोचर करेंगे, जिससे आप की ऊर्जा में वृद्धि होगी। आप सभी काम को पूरे मनोयोग और उत्साह से पूरा करेंगे और आपको इसका फल मिलेगा। आपका शरीर स्वस्थ रहेगा और समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी। जोश और आत्मविश्वास में वृद्धि की वजह से आप अपने कार्यक्षेत्र पर अच्छा करते दिखाई देंगे। आपको अपने परिश्रम का अच्छा फल और मान-सम्मान मिलेगा।

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा, जो आय, लाभ, इच्छा आदि का भाव होता है। सूर्य का यह गोचर आपके लिए आर्थिक रूप से काफी लाभकारी सिद्ध होगा। कारोबार में धन का प्रवाह अच्छा रहेगा तथा बचत भी संभव होगी। इस दौरान समाज में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी और आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। व्यक्तिगत जीवन में बड़े भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। करियर और कारोबार, दोनों ही मामलों में आपको अपने पिछले दिनों की गई मेहनत का सकारात्मक फल प्राप्त होगा।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके दसवें भाव में गोचर करेगा, जो कर्म और पेशे का भाव होता है। यह गोचर अवधि आपके पेशेवर जीवन के लिए बहुत फलदायक सिद्ध होगा। इस दौरान आपको सरकार या उच्च अधिकारियों की ओर किसी प्रकार का लाभ हो सकता है। नौकरीपेशा जातकों के लिए यह समय बेहतरीन रहने वाला है। कार्यस्थल पर आपके नेतृत्व तथा कार्य की सराहना की जाएगी। साथ ही तरक्की या इससे अच्छी नौकरी के योग बन रहे हैं। इस दौरान अपने स्वभाव का ध्यान रखें और अहंकार का प्रदर्शन ना करें। सूर्य और मंगल का योग आपको अत्यधिक आत्मविश्वासी बना सकता है।

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए सूर्य उनके नौवें भाव में गोचर करेगा, जो धर्म, भाग्य और लंबी दूरी की यात्रा का भाव होता है। यह समय अध्यापकों, कोच, धर्म से जुड़े लोगों के लिए बहुत अच्छा रहने वाला है। अगर आप नौकरी पेशा हैं, तो विदेश यात्रा या नौकरी के लिए स्थान परिवर्तन का योग बन रहा है। इस अवधि में आपका भाग्य प्रबल होगा और आज जिस कार्य में हाथ डालेंगे, उसमें सफलता मिलेगी। नया व्यवसाय या नया वेंचर शुरु करने के लिए ये बेहतरीन समय है। इस दौरान जो छात्र विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए भी यह समय प्रबल साबित होगा। यदि वे इससे संबंधित प्रयास करते हैं तो सफलता मिलने की संभावना अधिक है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By:

  • Font Size
  • Close