Surya Grahan 2022: वैदिक ज्योतिष और ग्रहों का संबंध है। ग्रह गोचर कई घटनाओं को जन्म देता है। अक्टूर माह में ग्रहों के गोचर के साथ तुला राशि में सूर्य ग्रहण लगेगा। इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्टूबर को लगेगा। यह भारत में दिखाई देगा। अतः इस काल में सूतक काल का विशेष महत्व रहेगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य देव तुला राशि में विराजमान होंगे। इस कारण तुला राशि में ग्रहण लगेगा। खास संयोग है कि इस बार 5 ग्रह तुला राशि में रहने वाले हैं। चंद्र, केतु, सूर्य, बुध और शुक्र जैसे पांच ग्रहों की युति होगी। इससे कुछ राशियों पर अशुभ प्रभाव पड़ेगा।

वृषभ राशि

इस राशि के जातकों के जीवन पर सूर्य ग्रहण का प्रभाव अधिक रहेगा। ग्रहण के दौरान अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा। अगर कोई समस्या है, तो उसे समय से पहले हल करने का प्रयास करें।

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों को किसी कार्य के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। आय से अधिक खर्च बढ़ने की संभावना है। इस लिए पैसों का खास ध्यान रखें।

कन्या राशि

सूर्य ग्रहण के दौरान कन्य राशि के जातकों के अनावश्यक खर्चे बढ़ेंगे। अगर आप कहीं निवेश करना चाहते हैं, तो बड़ों से सलाह हें। जल्दबाजी में लिया गया फैसला आपके लिए विनाशकारी साबित हो सकता है।

वृश्चिक राशि

इस राशि वालों की आर्थिक स्थिति प्रभावित होगी। पैसों को लेकर खुद को तंग महसूस करेंगे। इसलिए जरूरत न हो तो वहां पैसा खर्च न करें। निवेश करने से पहले विचार करने की आवश्यकता है।

तुला राशि

तुला राशि में सूर्य ग्रहण लगेगा। इस राशि में पांच ग्रह भी होंगे। ऐसे में इस राशि के लोगों को नुकसान उठाना पड़ सकता है। स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना होगा। वाहन चलाते समय भी सावधानी बरतें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close