Surya Nakshatra Parivartan: सूर्य देव ने 22 जून को नक्षत्र परिवर्तन किया है। सूर्य गोचर की तरह नक्षत्र परिवर्तन भी प्रभावित करता है। भास्कर इस समय आर्द्रा नक्षत्र में हैं। वे 6 जुलाई तक इसी नक्षत्र में रहेंगे। इस दौरान 3 राशियों पर उनकी कृपा बरसेगी। इससे पहले 15 जून को सूर्य ने मिथुन राशि में प्रवेश किया था। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रवि जब आर्द्रा नक्षत्र में होते हैं। तब शुभ फल देते है। इस दौरान महादेव और भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

मिथुन राशि

आर्द्रा नक्षत्र में सूर्य मिथुन राशि वालों को लाभ देंगे। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। प्रमोशन-इंक्रीमेंट मिलने के योग हैं। ऑफिस में मान-सम्मान बढ़ेगा। सारे काम पूरे होंगे। नए कार्य शुरू करने के लिए उत्तम समय है। मनोबल मजबूत होगा। आपको समस्या से छुटकारा मिलेगा। स्थान परिवर्तन होने की संभावना है।

कन्या राशि

सूरज का नक्षत्र परिवर्तन कन्या राशि के जातकों के लिए लाभदायक होगा। जुलाई के पहले सप्ताह में अच्छी खबर मिल सकती है। नौकरी-व्यापार में सफलता मिलेगी। सरकारी नौकरी पाने का सपना पूरा होगा। करीबी व्यक्ति से सहयोग प्राप्त होगा। किसी महत्वपूर्ण काम को संचालित कर पाएंगे।

सिंह राशि

सिंह राशि वालों के लिए सूर्य का नक्षत्र परिवर्तन खुशियां लेकर आएगा। अटके हुए काम में अब तेजी आएगी। धन और प्रतिष्ठा मिलेगी। भाग्य सूरज की तरह चमकेगा। नया वाहन खरीदने के लिए समय शुभ है। निवेश में भी मुनाफा होगा। प्रतियोगी परीक्षा में परिणाम आपके पक्ष में आएगा। पैतृक संपत्ति में हिस्सेदारी मिलने के योग है।

वृश्चिक राशि

करियर में बड़ी उपलब्धि मिलने के संकेत है। ऑफिस का काम घर पर कर रहे लोगों से अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। घर-बाहर प्रसन्नता का माहौल रहेगा। वैवाहिक चर्चाओं में सफलता मिलेगी। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता अर्जित करेंगे। मन में चल रही कोई उलझन समाप्त होगी।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close