मल्टीमीडिया डेस्क। राशियों तथा नक्षत्रों का अधिकार क्षेत्र शरीर के विभिन्न अंगों पर है। किसी व्यक्ति को कौन सा रोग होता है या भविष्य में किस रोग से पीड़ित होने की आशंका है, यह उसकी राशि को देखकर पता किया जा सकता है।

हालांकि, इन राशियों में बैठे ग्रहों का असर भी देखना होता है। यदि किसी राशि में कोई शुभ ग्रह बैठा है, तो वह रोगों की आशंका को कम कर देता है। वहीं, यदि राशि में कोई पाप ग्रह बैठा है, तो वह रोगों की आशंका को बढ़ा देता है। जानते हैं इसके बारे में...

मेष- इस राशि के जातकों के सिर, मस्तिष्क और आंखों में परेशानी होने की आशंका रहती है। सेलेब्रिटीज और हाई क्लास के लोगों को उनकी जीवनशैली के कारण अत्यधिक मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है।

वृषभ- इस राशि के लोगों के गले, वॉकल कॉर्ड और थॉयराइड ग्लैंड्स पर वृषभ का स्वामित्व होता है। मेडिकल एस्ट्रोलॉजी के अनुसार, उनके गले में परेशानी होने के साथ ही थॉयराइड ग्लैंड के ज्यादा या कम सक्रिय होने की आशंका होती है। हालांकि, ग्रह अच्छे बैठे हों, तो वे शानदार गायक बनते हैं।

मिथुन- ये लोग बातें करते हुए हाथों का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, जैसे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। इनके इशारों की अपनी लैंग्वेज होती है। इन्हें नर्वस सिस्टम से संबंधित परेशानी होने का खतरा अधिक होता है, जिसमें उन्हें सांस लेने में परेशानी और घबराहट की समस्या हो सकती है।

कैंसर- छाती, स्तन और पेट पर इस राशि का अधिकार होता है। इन्हें अपच की परेशानी होती है और खान-पान संबंधी अन्य परेशानियां भी हो सकती हैं, जो पेट से जुड़ी हुई हों।

लियो- शेर जैसे दिल वाले इस राशि के लोगों को दिल की परेशानी के साथ ही रीढ़ की हड्डी में भी परेशानी हो सकती है। इस राशि के लोगों को दिन में एक दो बार तो उल्टा खड़ा होना चाहिए, ताकि उनके खून का दौड़ाव सही हो सके और वे रीढ़ की हड्डी को फिर से सही रख सकें।

कन्या- इस राशि के लोगों को कब्ज की परेशानी हो सकती है। पाचन तंत्र और आंत से संबंधित बीमारियां होने की आशंका होती है। इनका शरीर लगातार गैर-जरूरी चीजों को बाहर करने में ही लगा रहता है।

तुला- इस राशि के जातक संतुलन बनाना अच्छी तरह जानते हैं। जीवन में संतुलन बनाने के लिए तुला इतने जुनूनी हो सकते हैं कि वे भीतर के संतुलन को खो सकते हैं। उन्हें त्वचा और पीठ के दर्द की परेशानी हो सकती है।

वृश्चिक- इस राशि के लोग अंतरंग संबंधों को लेकर काफी सक्रिय होते हैं। लिहाजा इनके प्रजनन अंग और यौन बीमारियों के होने की आशंका अधिक होती है। इस राशि के जातकों को यूटीआई, यीस्ट इंफेक्शन, और बैक्टीरियल इंफेक्शन से ग्रस्त होने की आशंका रहती है।

धनु- इन्हें पार्टी करना और घूमना काफी पसंद होता है। वे हमेशा बाहर जाते हैं और नई जगहों की तलाश में हमेशा लगे रहते हैं। इन्हें कूल्हों, जांघों और लिवर से संबंधित परेशानी हो सकती है।

मकर- इन्हें लगता है कि सारी दुनिया का बोझ इन्हीं के कंधों पर है और ये उसी तरह काम करते हैं। मगर, उनकी इसी आदत के चलते वे अपनी हड्डियों और कंकाल तंत्र के लिए परेशानी खड़ी कर लेते हैं।

कुंभ- इस राशि के लोगों को टखने और सर्कुलर सिस्टम से संबंधित परेशानी होने का खतरा रहता है।

मीन- इन लोगों को पैरों और लसीका तंत्र से संबंधित परेशानी हो सकती है। इस राशि के लोग नकारात्मक ऊर्जा को अवशोषित करने वाले होते हैं, जिससे उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित हो सकती है। ये लोग ड्रग्स, शराब या अन्य किसी नशे के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags