मल्टीमीडिया डेस्क। हिंदू धर्म में माघ मास का विशेष महत्व है। इस बार माघ महीना 22 जनवरी, मंगलवार से शुरू हो रहा है, जो 12 फरवरी, मंगलवार तक रहेगा। जानिए इस दौरान क्या करें और क्या न करें...

- धर्म ग्रंथों में लिखा है कि इस महीने में यदि विधिपूर्वक भगवान श्रीकृष्ण की पूजा की जाए तो सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

- इन दिनों में सूर्योदय से पूर्व उठना और स्नान करना चाहिए। स्नान के जल में दो बूंद गंगाजल मिलाने का बड़ा महत्व बताया गया है।

- विधिवत अपने इष्ठदेव की पूजा करें। साथ ही ॐ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें।

- विभिन्न रोग दूर करने के लिए सलाह दी जाती है कि नंगे पैर मंदिर तक जाएं और शिवजी को दूध चढ़ाएं। लगातार सात दिन ऐसा करने से रोग दूर होते हैं।

- माघ मास में पवित्र नदियों में स्नान, पूजन-अर्चन और तिल-कंबल के दान को विशेष महत्व द‍िया गया है। माना गया है कि ऐसा करने से स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

जगह-जगह होता है मेले का आयोजन

इस माह में संपूर्ण भारत के प्रमुख तीर्थों पर मेलों का आयोजन होता है। प्रयाग, हरिद्वार, उत्तरकाशी जगहों पर लगने वाले माघ मेलों में दूर-दूर से लोग उमड़ते हैं।

Posted By:

  • Font Size
  • Close