क्रिसमसः बाजार में सजावटी सामानों की बिक्री तेज

फोटो 13 एमएसएमडी 16, 17 कैप्शन-क्रिसमस के लिए बाजार सज कर तैयार।

महासमुंद। नईदुनिया प्रतिनिधि

मसीही समाज बड़ा दिन मनाने के लिए उत्सुक है। क्रिसमस की तैयारी तेजी से शुरू हो गई है। चर्च को सजाया जा रहा है, वहीं लोग अपने घरों की सफाई, रंगरोगन कराने में जुटे हुए हैं। क्रिसमस को लेकर बाजार में उत्साह है। दुकानदारों ने आकाशदीप, सजावटी सामान, सेंटा क्लाज की ड्रेस आदि का भरपूर स्टाक रखा है। वहीं मसीही घरों में कैरोल सिंगिंग दल पहुंच रहा है।

दुकानदार शानू साहू ने बताया कि क्रिसमस पर्व को लेकर दुकान में भरपूर स्टाक रखा गया है। यहां 70 रुपये से लेकर 250 रुपये तक के आकाशदीप हैं। वहीं 20 रुपये से लेकर 500 रुपये तक के सजावटी सामान हैं। इसके अलावा बच्चों के प्रिय सेंटाक्लाज की वेशभूषा धारण करने के लिए ड्रेस है। बाजार में इन सामानों की अधिक मांग रहती है। ज्ञात हो कि शहर में मसीही समाज बीते कुछ वर्षो से क्रिसमस रैली का आयोजन करते आ रहा है। रैली में बड़ी संख्या में लोग शामिल होते हैं। वहीं सेंटाक्लाज की वेशभूषा धारण कर बच्चों को टाफियां बाटी जाती है। स्कूलों में विभिन्न स्पर्धांए होती हैं, ऐसे में फैंसी ड्रेस स्पर्धा में बच्चे सेंटाक्लाज बनना बेहद पसंद करते हैं।

यहीं नहीं क्रिसमस ट्री और घरों को आकर्षक सजाया जाता है। जिसके लिए सजावटी सामानों की बिक्री अधिक रहती है। नववर्ष के लिए स्वागत के लिए मसीहीजनों के अलावा अन्य लोग भी घर और मोहल्ले की सज्जा के लिए सजावटी सामान खरीदते हैं। शानू साहू ने बताया कि क्रिसमस का बाजार 20 दिसंबर के बाद जोर पकड़ता है। बाद 31 दिसंबर तक सजावटी सामानों की मांग बनी रहती है।

गमले में बिक रहा क्रिसमस ट्री

फूल-पौधे बेचने वाले अब अन्य पौधों की अपेक्षा क्रिसमस ट्री का गमला अधिक रखे हुए हैं। लोग अपने घरों में क्रिसमस ट्री खरीदकर ले जा रहे हैं। यहां इसकी सज्जा की जा रही है।

के क बनाने में जुटे बेकर्स

क्रिसमस पर्व और नए साल पर बड़ी मात्रा में केक बिकता है। लोग 25 दिसंबर क्रिसमस की रात और 31 दिसंबर की मध्य रात केक काटकर जश्न मनाते हैं। यहीं नहीं जमकर आतिशबाजी होती है। लोगों की डिमांड के अनुसार बेकर्स केक बनाने में जुटे हुए हैं।

Posted By:

  • Font Size
  • Close