Astro Tips: ज्योतिष की एक प्रमुख शाखा समुद्र शास्त्र भी है। इसके अंतर्गत शरीर के विभिन्न अंगो की बनावट, रंग, आकार-प्रकार आदि के जरिए भविष्य जानने के तरीके बताए जाते हैं। इन तरीकोँ से यह भी जाना जाता है कि किसी व्यक्ति का स्वभाव और पर्सनालिटी कैसी है। आज हम आपको शरीर के महत्वपूर्ण अंगो के जरिेए भविष्य जानने का तरीका बताएंगे। पैरों के तलवों की बनावट और उनमें बने निशान आपके भविष्य के बारे में बताते है। समुद्र शास्त्र के अनुसार यदि पैरो के तलवों में कुछ खास निशान होते है तो ये बेहद ही शुभ माने जाते है। जिन लोगों के पैरों में यह निशान होते है बहुत सौभाग्यशाली होते है। इन निशानों के होने से किस्मत चमक जाती है और दुनिया के तमाम सुख प्राप्त होते है।

पैरों के तलवों से जाने भविष्य

  • जिन लोगों के तलवों में लालिमा होती है और चिकने होते हैं, ऐसे लोग बहुत लकी होते हैं। इन लोगों पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है। ये लोग अपने जीवन में अपार पैसा कमाते हैं।
  • वहीं जिन लोगों की फटी ऐड़ियां और रुखी त्वचा होती है वे पैर अच्छे नहीं माने जाते हैं। इन लोगों को जीवन में काफी संघर्षों का सामना करना पड़ता है।
  • जिन लोगों के तलवे सपाट होते है वे मेहनती और खुले विचारों वाले लोग होते हैं। ये हमेशा लोगों की मदद करने में आगे रहते है। साथ ही अपनी तरक्की के लिए खूब कोशिश करते है।
  • समुद्र शास्त्र के अनुसार जिन लोगों के पैरों के तलवों में चक्र, कमल के फूल, सांप, तलवार, ध्वज, शंख आदि का चिन्ह होता है तो व्यक्ति खूब ख्याति प्राप्त करता है और ऊंचे मुकाम पर पहुंचता है।
  • यदि किसी व्यक्ति के तलवे में कोई रेखा एड़ी से शुरु होकर अंगूठे के मध्य भाग तक जाती है तो ऐसे लोगों के पास धन-दौलत रहती है और ऐशो आराम की जिंदगी जीते हैं।
  • यदि किसी व्यक्ति के तलवे में कालापन हो तो ऐसे लोग धोखेबाज होते है। साथ ही ये संतानहीन और पैसों की तंगी के शिकार होते हैं। इनके जीवन में हमेशा कोई न कोई समस्या बनी रहती है।
  • किसी व्यक्ति के पीले तलवे हो तो यह ज्योतिष और सेहत दोनों की दृष्टि से सही नहीं माने जाते हैं। इसके पीछे का कारण खून की कमी या कोई बीमारी हो सकती है। ये लोग दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करते हैं।
  • एकदम सफेद तलवे वालों में सही गलत की पहचान करने की क्षमता नहीं होती है। ये लोग बिना सोचे समझे कुछ भी करके अपना नुकसान कर देते हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close