Astro Tips: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर में रखी हर एक चीज का सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में सभी चीजों को सही जगह पर रखना बहुत जरूरी होता है। वहीं पैरों में पहनी जाने वाली चप्पल भी व्यक्ति का भाग्य चमकाने में मददगार होती है। चप्पल से जुड़ी ऐसी कई बातें हैं अगर आप उन पर गौर करेंगे तो आपकी आर्थिक स्थिति में अचानक से सुधार आ जाएगा। चप्पल आपको अमीर भी बना सकती है। वहीं कुछ बातों को अगर नजरअंदाज किया जाए तो घर में कंगाली आते देर नहीं लगती है। वास्तु के अनुसार हमेशा इस्तेमाल किए जाने वाले जूते-चप्पल को व्यवस्थित ढंग से पश्चिम दिशा में रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि चप्पल से जुड़े कुछ ज्योतिष उपाय कौन-कौन से हैं।

चप्पल से जुड़े ज्योतिषीय संकेत

- आपने अक्सर देखा होगा कि लोगों के घर में टूटी हुई या खराब चप्पल रखी रहती है। लोग ये सोच कर उसे घर में रख लेते हैं कि इसे ठीक करा कर रख लेंगे। लेकिन टूटी चप्पल घर में अशांति का कारण बनती है। कोशिश करें कि टूटी हुई चप्पल को तुरंत घर से हटा दें।

- कई बार चप्पल उतारते समय चप्पल के ऊपर चप्पल चढ़ी रह जाती है। ऐसे में कहा जाता है कि इस तरह से चप्पलों को देखना अशुभ होता है। जिस व्यक्ति की चप्पल पर चप्पल चढ़ी रहती है या चप्पल उल्टी हो गई होती है तो उसे तुरंत हटा दें। ऐसा न करने पर जिसकी चप्पल होती है उस पर बीमारियों का साया पड़ने लगता है।

- घर में चप्पल को कभी भी दहलीज पर खड़ी करके नहीं रखना चाहिए। कहा जाता है कि करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास नहीं रहता है।

- घर के दरवाजे पर चप्पल उतारने से घर में कभी भी बरकत नहीं होती है। कभी भी किसी से जूते गिफ्ट में न लें। ऐसे में उसका अभाग्य आपके भाग्य का नाश कर देगा। साथ ही टूटे जूते चप्पल पहनने से भी बचना चाहिए। ये अभाग्य को न्यौता देते हैं। माना जाता है कि साफ-सुथरे और सुंदर जूते-चप्पल पहनने से भाग्य में निखार आता है।

- कभी भी जूते चप्पल पहनकर भोजन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से दुर्भाग्य में वृद्धि होती है। वहीं रसोई में नंगे पैर प्रवेश करना चाहिए। ज्योतिष के अनुसार जूते-चप्पलों को खो जाना शुभ माना जाता है। ऐसा होने पर अशुभ ग्रह शुभ फल देने लगते हैं।

- वास्तु के अनुसार घर में कभी भी जूते-चप्पल को उल्टे नहीं रखना चाहिए। अगर उल्टे हो भी जाएं तो तुरंत सही कर देना चाहिए। जिस घर में जूते-चप्पल बिखरे पड़े रहते हैं वहां शनि का अशुभ प्रभाव पड़ता होता है। माना जाता है कि शनि का संबंध पैर से भी होता है।

- घर के बाहर जूते-चप्पल को अव्यवस्थित ढंग से रखने से नाकारात्मक ऊर्जा आती है। हमेशा जूते-चप्पल को व्यवस्थित ढंग से किसी कोने में रखना चाहिए।

- शनिवार के दिन जूते-चप्पल का दान करना काफी शुभ माना जाता है। खासतौर पर चमड़े से बने जूते-चप्पल शनिवार की शाम को दान करने से शनि देव की कृपा होती है।

- कभी भी किसी दूसरे व्यक्ति की चप्पल खुद न पहनें। ऐसा करने से आप पर दरिद्रता का साया आ जाता है। अगर आप किसी की चप्पल पहनते हैं तो किसी का संघर्ष अपने ऊपर ले लेते हैं।

- ज्योतिष के अनुसार सोमवार और शुक्रवार के दिन नए जूता-चप्पल पहनना शुभ माना जाता है। ये आपके भाग्य को जगाने में मदद करता है।

- घर में जहां भंडार रखा हो वहां भी जूते-चप्पल पहन कर नहीं जाना चाहिए। जिस जगह पर आपके घर का अनाज हो या फिर खाने-पीने की चीजें हों वहां जूते-चप्पल पहनकर जाने से उस जगह का अपमान होता है।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Ekta Shrma

  • Font Size
  • Close