Feng Shui Tips: नवरात्रि की शुरुआत के साथ लोगों ने अपने घरों की सफाई और पुताई करना शुरू कर दिया है। ज्यादातर यह काम दिपावली के कुछ दिन पहले शुरू कर दिया जाता है। वैसे तो हम अपने घरों को अपनी पसंद के रंगों से रंगते हैं। फेंगशुई में घर की पेंटिंग के लिए अलग-अलग रंगों के महत्व और उनके फायदे और नुकसान का जिक्र किया गया है। घरों में हर दिशा के लिए अलग-अलग रंगों को महत्व दिया जाता है। सही रंगों के इस्तेमाल से घर में सुख-समृद्धि आती है। धन की देवी लक्ष्मी का वास भी होता है।

- घर की उत्तर-पूर्व दिशा में पृथ्वी तत्व होता है। इस लिए पीला रंग सबसे अच्छा माना जाता है। लाल और नारंगी कलर भी अच्छे लगते हैं, लेकिन हरे रंग से बचना चाहिए।

- उत्तर दिशा को जल तत्व का प्रतीक माना जाता है। जल तत्व के लिए सबसे अच्छा रंग नीला है। इस दिशा के लिए पीला रंग अशुभ माना जाता है।

- उत्तर-पश्चिम दिशा का तत्व धातु है। इसके लिए सबसे अच्छा रंग सफेद माना जाता है। येलो कलर भी करवाया जा सकता है, लेकिन इस दिशा में लाल रंग नहीं करवाना चाहिए।

- पश्चिम दिशा के लिए सबसे अच्छा रंग सफेद या ग्रे हैं। फेंगशुई में लाल और नारंगी रंग का प्रयोग किया जाता है। इस दिशा में हरे रंग का प्रयोग करना अशुभ माना जाता है।

- दक्षिण दिशा का तत्व अग्नि है। इस दिशा में लाल और नारंगी रंग करवाना चाहिए। इसके अलावा हरा रंग भी किया जा सकता है, लेकिन नीले और काले रंग से बचना चाहिए।

- लकड़ी का तत्व घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में स्थित होता है। जिसरा रंग हरा होता है। आप चाहें तो नीला कलर भी करवा सकते हैं। इस दिशा में सफेद रंग का प्रयोग न करें। मध्य भाग पृथ्वी है। इसके लिए सबसे अच्छा रंग पीला।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close