सफलता और अच्छे जीवन की चाहत किसे नहीं होती। हर कोई चाहता है कि करियर में उसे सफलता मिले और फैमिली में सुख-शांति बने रहे। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि कार्यक्षेत्र में सफलता का सीधा संबंध वास्तु से होता है। आप किस दिशा में बैठकर काम करते हैं और आस-पास का माहौल कैसा होता है, यह समझ लेना भी बहुत जरूरी होता है। वास्तु शास्त्र में कई ऐसी चीजें है, जिनको फॉलो करने से आपको करियर में सफलता मिल सकती है।

वास्तु के जानकारों की यदि मानें तो, जहां बैठकर आप काम करते हैं वहां का माहौल सकारात्मक होना चाहिए। सकारात्मक और स्वस्थ माहौल का असर आपके काम पर दिखाई देता है। ऐसे माहौल मे किया गया काम आपको सफलता की ओर ले जाता है।

तरक्की के लिए जरूरी है ऐसा माहौल

वास्तु के अनुसार ऑफिस में काम करते वक्त आपका चेहरा हमेशा उत्‍तर की दिशा की ओर होना चाहिए। इस मामले में उत्तर दिशा काफी फलदायी मानी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि इससे आपके करियर की बाधाएं दूर हो सकती हैं। करियर के संबंध में कुछ वास्‍तु सलाहकारों का मानना है कि उत्‍तर दिशा सफलता का पर्याय होती है। अगर आप कोई नया काम शुरू करने वाले है तो इसी दिशा को केंद्रित करके काम की शुरुआत करें, आपको सफलता जरूर मिलेगी।

घर की सजावट में रखे वास्तु का ध्यान

उत्तर दिशा की ओर चेहरा करके काम करने का नियम कार्यस्‍थल के अलावा घर पर भी लागू होता है। आपके ड्राइंग रूम की सजावट को ही ले लीजिये। यदि आपने अपना टेलीविजन सेट ऐसे स्‍थान पर लगाया है जहां आपका चेहरा उत्‍तर की ओर रहे तो यह शुभ माना जाता है। वहीं, घर के प्रवेश द्वार को लेकर वास्‍तु में विशेष जोर दिया गया है। कहा जाता है कि घर का प्रवेश द्वार कभी भी उत्‍तर और दक्षिण की दिशा में नहीं होना चाहिए। इतना ही नहीं इन दिशाओं में घर की बालकनी भी नहीं होनी चाहिए। मान्‍यता है कि ऐसा होने पर घर में सुख एवं शांति का वास नहीं रहता।

नया घर बनाने जा रहे हैं तो...

अगर आप नया घर बनाने वाले है तो इस बात का विशेष ध्यान रखे कि, घर के प्रवेश द्वार से सूर्य का प्रकाश भीतर तो पहुंचे लेकिन इसकी दिशा पूर्व और पश्चिम ही होना चाहिये। इन दिशाओं से यदि सूर्य का प्रकाश घर में आता है तो यह अच्‍छा माना जाता है। इससे परिवार में सुख-शांति बनी रहती है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket