सेंटर फोटो 12 झाड़पा। भागवत कथा समापन के बाद हुआ भंडारा।

विशाल भंडारे के साथ भागवत कथा का समापन

झाड़पा। नवदुनिया न्यूज

ग्राम धनगांव में सात दिनों से चल रही भागवत कथा का समापन रविवार को हुआ। समापन के अवसर पर कथावाचक वासुदेव शर्मा उज्जौन ने कहा, कि भक्तों के हृदय में भगवान का घर है। समाज में कुरीतियों को समाप्त करने के लिए खुद को बदलना होगा। निस्वार्थ भाव से की गई भक्ति कभी विफल नहीं होती। हम किसी को बदनाम नही करेंगे।

यदि अपनी नजर सही है तो कोई भी हमे गलत नहीं दिखाई देगा। जो गलती को सुधार ले भी इंसान होता है। भागवत कथा का आयोजन करवाने से पितृ मोक्ष दूर होते है साथ ही श्रीकृष्ण और सुदामा की मित्रता बताई।पूर्णाहुति के बाद विशाल भंडारे का आयोजन हुआ। इस दौरान हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।

------

सेंटर फोटो 13 करताना। कथा का वाचन करते हुए।

जहां अपने ईष्ट और गुरू का अपमान हो वहां कभी नहीं जाना चाहिएः भारती

करताना। नवदुनिया न्यूज

मौर्य परिवार द्वारा तजपुरा गांव में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के तीसरे दिन कथा सुनाते हुए कथा वाचक महंत प्रज्ञा भारती ने बताया कि किसी भी स्थान पर बिना निमंत्रण जाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि जहां आप जा रहे है वहां आपका, अपने इष्ट या अपने गुरु का अपमान हो। यदि ऐसा होने की आशंका। हो वहां नहीं जाना चाहिए कथा के दौरान सती चरित्र के प्रसंग को सुनाते हुए भगवान शिव की बात को नहीं मानने पर सती के पिता के घर जाने से अपमानित होने के कारण स्वयं को अग्नि में स्वाह होना पड़ा। कथा में उत्तानपाद के वंश में ध्रुव चरित्र की कथा को सुनाते हुए समझाया, कि ध्रुव की सौतेली मां सुरुचि के द्वारा अपमानित होने पर भी उसकी मां सुनीति ने धैर्य नहीं खोया। जिससे एक बहुत बड़ा संकट टल गया। परिवार को बचाए रखने के लिए धैर्य संयम की नितांत आवश्यकता रहती है। भक्त ध्रुव द्वारा तपस्या कर श्रीहरि को प्रसन्ना करने की कथा को सुनाते हुए बताया कि भक्ति के लिए कोई उम्र बाधा नहीं है। भक्ति को बचपन में ही करने की प्रेरणा देनी चाहिए क्योंकि बचपन कधो मिट्टी की तरह होता हैै। उसे जैसा चाहे वैसा पात्र बनाया जा सकता है। कथा के दौरान उन्होंने बताया कि पाप के बाद कोई व्यक्ति नरकगामी हो, इसके लिए श्रीमद् भागवत में श्रेष्ठ उपाय प्रायश्चित बताया है। कथा के माध्यम से इस बात को विस्तार से समझाया गया ,साथ ही प्रह्लाद चरित्र के बारे में विस्तार से सुनाया और बताया कि भगवान नृसिंह रुप में लोहे के खंभे को फाड़कर प्रगट होना बताता है, कि प्रह्लाद को विश्वास था कि मेरे भगवान इस लोहे के खंभे में भी है और उस विश्वास को पूर्ण करने के लिए भगवान उसी में से प्रकट हुए एवं हिरण्यकश्यप का वध कर प्रह्लाद के प्राणों की रक्षा की। कथा के दौरान बीच बीच में भजनों की प्रस्तुति दी।

----------

सेंटर फोटो 14 रहटगांव। स्कूल में खेल स्पर्धा का हुआ आयोजन।

बड़वानी में प्रतिभा पर्व मनाया गया।

रहटगांव। तहसील क्षेत्र के बड़वानी ग्राम की प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में वार्षिक उत्सव प्रतिभा पर्व बड़े ही उत्साह पूर्वक मनाया गया। शाला प्रबंधन समिति के द्वारा टेंट, दरी, साउंड सिस्टम, कुर्सी आदि की व्यवस्था की गई।बालक - बालिकाओं में कुर्सी दौड़, चम्मच दौड़, 100मीटर व 200 मीटर दौड़ अलग- अलग कबड्डी आदि की प्रतियोगिता रखी गई। इस अवसर पर प्रतिभा सोनी सहा. अध्यापक ने लोहे की सेल्फ उपहार में दान दी। सेल्फ में सहायक शिक्षण सामग्री बधाों की पहुंच में रखी जाएगी। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले, परीक्षा में अब्बल बधो, शत प्रतिशत उपस्थित रहने वाले बालक एवं बालिकाओं को पुरुस्कार विरतण किया गया। विशेष मध्यान भोजन का विरतण किया गया। विनोद दशोरे के मार्गदर्शन में विष्णु प्रसाद चौधरी, वीरेंद्र धुर्वे आनंद उपरीन ने कार्यक्रम को सुचारू से संचालन में अपना सहयोग प्रदान किया।

-----

निशुल्क स्वास्थ शिविर का आयोजन किया

रहटगांव। निशुल्क चिकित्सा एवं स्वास्थ्य कैंप रविवार को पुरानी ग्राम पंचायत भवन नाके के पास प्रांतीय जन स्वास्थ्य रक्षक कल्याण संगठन जिला हरदा द्वारा आयोजित किया गया। कैंप दोपहर में लगाया गया। जिसमें जिले चिकित्सा के डॉक्टर शैलेंद्र सिंह ठाकुर द्वारा हृदय रोग संबंधित चिकित्सा परामर्श दिया गया। वहीं एवं अन्य रोगियों की भी जांच की गई। इस दौरान लगभग 80 मरिजों का स्वास्थ्य परिक्षण किया गया। कैंप में हृदय रोग ब्लड प्रेशर शुगर चर्म रोग पेट रोग श्वास दमा च-र घबराहट आदि अन्य तरह के मरीजों को भी डॉक्टरों द्वारा देखा गया। सरपंच ओमप्रकाश अग्रवाल द्वारा बताया गया, कि इस प्रकार के कैंप लगने से लोगों को स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य सुविधा मिल जाती हैं।

-----

अवैध रेत का परिवहन करते हुए पकड़े 24 डंपर, रॉयल्टी और दस्तावेजों की जांच की

टिमरनी। नवदुनिया न्यूज

नगर के हरदा रोड पर रविवार की सुबह 7 बजे से तहसीलदार अलका ए-ा और उनकी टीम द्वारा रेत से भरे ओवरलोड और अवैध रेत के डंपरों की धरपकड़ कर कार्रवाई की गई। जिससे रेत कारोबारियों में हड़कंप मच गया। सुबह से लेकर दोपहर 12 बजे तक यह कार्रवाई चलती रही और पकड़े गए सभी डंपरों को कृषि उपज मंडी में खड़ा किया गया। तहसीलदार अलका ए-ा ने बताया कि पिछले कई दिनों से रेत से भरे ओवरलोड डंपर चल रहे थे। जिसकी बार-बार शिकायतें आ रही थी। इसी को लेकर यह कार्रवाई की गई। जिसमें 24 रेत से भरे डंपर को पकड़ा गया है। इनकी जांच कर प्रकरण बनाकर विभाग को भेजा जाएगा। वहीं जिन डंपरों के पास रायल्टी के अनुसार रेत होगी उन्हें छोड़ दिया जाएगा। तहसीलदार ने तो प्रकरण बनाकर कार्रवाई करने की बात कही लेकिन नीचले स्तर पर कर्मचारियों ने डंपर मालिकों से सांठगांठ करते नजर आए और 24 में से कुछ डंपरों को शाम होते ही छोड़ दिया गया।

कलेक्टर के आदेश हवा में

तहसीलदार द्वारा पकड़े गए सभी डंपरों को ओवरलोड बताया जा रहा है। दूसरी तरफ सही पाए जाने की बात कह कर उन्हें छोड़ दिया जा रहा है। जिससे यह साफ तौर से प्रतीत होता है, कि तहसील के वरिष्ठ अधिकारी और पटवारी डंपर मालिकों से सांठगांठ करते हुए डंपरों को छोड़ा जा रहा है। जबकि पूर्व में कलेक्टर एस विश्वनाथन ने टिमरनी एसडीएम और तहसीलदार को सख्त आदेश दिए थे, कि जो भी डंपर ओवरलोड पाए जाते हैं उन पर तत्काल कार्रवाई की जाए और जो सही पाए जाते हैं उन्हें मौके पर जांच कर तत्काल छोड़ दिया जाए लेकिन कलेक्टर का आदेश नहीं मानते हुए तहसीलदार और पटवारी अपनी मनमर्जी में लगे हुए हैं।

डंपरों की निकाली हवा

रेत से भरे ओवरलोड डंपरों पर कार्रवाई होते हुए देख कुछ डंपर चालको ने हाइवे पर ही गाड़ी खड़ी कर भाग निकले। जिस पर राजस्व विभाग की टीम ने उन डंपरों की हवा निकाल दी। जससे उन डंपरों को दिनभर खड़ा रहना पड़ा। वहीं टीम के जाते ही डंपर चालकों ने डंफरों में हवा भरवाकर शाम होते ही निकलते दिखाई दिए लेकिन उन डंफरो को रोकने वाला कोई नहीं रहा और नगर से फर्राटे मरते हुए डंफर निकल गए।

-----

सेंटर फोटो 16 हंडिया। शिव पुराण की हुई शुरूआत।

कलश यात्रा के साथ शुरू हुई शिव पुराण

हंडिया। नवदुनिया न्यूज

रिद्घनाथ मंदिर घाट परिसर में संगीत शिव पुराण कथा का आयोजन शुरू किया गया। कथावाचक पंडित सुशील कुमार जोशी के मुखारविंद से प्रवचन सुनाया जाएगा। कथा के प्रथम दिन मंदिर के महंत नवीन व्यास के मार्गदर्शन में भव्य कलश यात्रा निकाली गई जो नर्मदा से जल भरकर महिलाओं ने सिर पर रखा और मंदिर प्रांगण से यात्रा शुरू हुई जो लोधी मोहल्ला, तिवारी मोहल्ला होते हुए गांव के मुख्य मार्गों पर नगर भ्रमण किया गया। बैंडबाजा आतिशबाजी के साथ जिसमें बधाों द्वारा नाचते गाते हुए यात्रा निकाली गई है। कथा का समय दोपहर 12 से 5 बजे तक प्रवचन सुनाया जाएगा। यह आयोजन स्वर्गीय पंडित गोकुल प्रसाद व्यास की धर्मपत्नी गीताबाई व्यास के सानिध्य में आयोजन किया जा रहा है।

Posted By: