भारतीय परंपराओं में बहुत सारी ऐसी चीजें हैं जिन्‍हें शुभ और अशुभ से जोड़कर देखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि प्रकृति को विभिन्न संदेशों को समझने एवं ग्रहण करने की क्षमता मनुष्य से कई गुना अधिक होती है। इसी के अनुसार वे अपने माध्यम से मनुष्य को आने वाले शुभ और अशुभ की जानकारी देती रहती हैं। आज हम आपको बताते हैं किन बातों को शकुन और अपशकुन का प्रतीक माना गया है।

- जिस घर में काली चींटियां समूह वृद्ध होकर घूमती हों वहां ऐश्वर्य की वृद्धि होती है। लेकिन इसका एक प्रभाव यह भी होता है कि मतभेद भी घर के अंदर बढ़ते हैं।

- जिस घर के दरवाजे पर हाथी अपनी सूंड ऊंची करे वहां उन्नति, वृद्धि तथा मंगल होने की सूचना मिलती है।

- आपके घर में अगर कबूतर प्राकृतिक रूप से निवास करते हैं तो यह एक शुभ संकेत है।

- आपके घर की तरफ मुंह करके अगर कोई कुत्‍ता रोता है तो इस अशुभ माना जाता है।

- घर में मकड़ी के जाले नहीं होने चाहिएं, वे शुभ नहीं होते।

- जिस भवन में छछूंदरें घूमती हैं वहां लक्ष्मी की वृद्धि होती है।

- घर में काले चूहों की संख्या अधिक हो जाती है वहां किसी अचानक से व्‍यवधान उत्‍पन्‍न होने का अंदेशा रहता है।

- घर के आंगन में कोई पक्षी घायल होकर गिरे वहां दुर्घटना होती है।

- जिस भवन की छत पर कौए, टिटहरी अथवा उल्लू घोर शब्द करें तब वहां किसी समस्या का उदय अचानक होता है।

Posted By: