Vastu Tips: पारिवारिक जीवन में कलह बढ़ गया हो, या पति-पत्नी में अक्सर खटपट रहती हो, तो इसकी वजह आपका बेडरूम भी हो सकता है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक पति-पत्नी का शयन कक्ष कुछ खास दिशाओं में नहीं होना चाहिए। साथ ही बेडरूम में रखी कुछ चीजें भी नकारात्मक ऊर्जा पैदा करती हैं। अक्सर हम सजावट के कारण या गलत जानकारी होने के कारण कुछ चीजों को अपने बेडरूम में जगह दे देते हैं। लेकिन इन चीजों के कारण पति-पत्नी के जीवन में दरार आ सकती है। ऐसे में ऐसी चीजों को कमरे के फौरन हटा देना चाहिए। तो चलिए आपको बताएं कि पति-पत्नी का बेडरूम किस दिशा में होना चाहिए और बेडरूम में क्या रखना चाहिए और क्या नहीं।

बेडरूम की दिशा

अपनी विवाहित जिंदगी को सुख-शांति जीने के लिए प्रेम और आकर्षण की दिशा यानी उत्तर या उत्तर-पश्चिम हिस्से में अपना शयनकक्ष बनवाएं। इस दिशा में कमरा होने से पति-पत्नी के आपसी संबंधों में प्रगाढ़ता आती है और जीवन में प्रेम बना रहता है।

अगर आपका बेडरूम दक्षिण-पश्चिम दिशा में है, तो ये संबंधों, जुड़ाव और दक्षता का क्षेत्र है। यहां बेडरूम होने से पति-पत्नी लगातार अपने-अपने कार्यों में दक्षता हासिल करते हैं। अगर आप दोनों वर्किंग कपल हैं, तो आपके लिए ये दिशा उचित रहेगी।

पश्चिम दिशा भी लाभ और प्राप्तियों का होता है। ऐसे में इस हिस्से में बेडरूम बनाने से दंपति को जीवन के हर क्षेत्र में लाभ और धन की प्राप्ति होगी। कारोबार से जुड़े लोगों के लिए ये दिशा सही साबित होती है।

पति-पत्नी को उत्तर-पूर्व दिशा की दिशा अग्नि की होती है। इस इलाके में रखे कमरे या इस दिशा की ओर बेड लगाने से परहेज करना चाहिए। इसी तरह दक्षिण-पूर्व में भी बेडरूम होने से पति-पत्नी का व्यवहार बेवजह आक्रामक हो जाता है और छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आने लगता है। इस कोण में शयनकक्ष होने से बेवजह का खर्च भी बढ़ता है।

बेडरूम में क्या हो, क्या ना हो

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close