वास्तु पुरुष की प्रार्थना पर ब्रह्माजी ने मानव कल्याण के लिए वास्तुशास्त्र के नियमों की रचना की थी। इनकी अनदेखी करने पर गृहकलेश की स्थिति बनती है और घर के सदस्यों को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक हानि उठानी पड़ती है। गृह निर्माण में वास्तु का काफी ध्यान दिया जाता है, लेकिन फिर भी अगर कोई दोष होता है तो घर में बिना तोड़-फोड़ किए आप इसे ठीक कर सकते हैं।

वास्तुदोष दूर करने के लिए कई तरह के उपाय अपनाए जाते हैं। वैसे तो घर बनवाने से पहले ही वास्तुदोष के बारे में पता कर लेना बेहतर होता है, पर अगर घर बनने के बाद वास्तु की परेशानी आती है तो आप कई तरीकों से इसे दूर कर सकते हैं। इनमें से एक तरीके के बारे में हम आपको बता रहे हैं।

बड़े काम की है एरोवाना मछली

वास्तु शास्त्र में घर के अंदर और बाहर रखी जाने वाली चीजों का बहुत महत्व बताया गया है। घर के अंदर और बाह रखी चीजें हमारे घर में सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा का संचार करती हैं। एरोवाना मछली भी इनमें से एक है। घर के अंदर एरोवाना मछली रखने से फायदा होता है। सुनहरी मछली के साथ-साथ एरोवाना मछली को भी वास्तु शास्त्र में बहुत अच्छा माना गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में एरोवाना मछली को रखना शुभ माना जाता है। ये मछली अच्छे स्वास्थ्य, सुख-समृद्धि, धन और शक्ति का प्रतीक मानी जाती है।

मूर्ति रखने से भी होगा असर

एरोवाना मछली बुरी शक्तियों को दूर करती है और घर के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार करती है। अगर आप अपने घर में जिंदा मछली नहीं पाल सकते तो आप मुंह में सिक्का लिए हुए सुनहरी एरोवाना मछली की मूर्ति घर में रख सकते हैं। इस मूर्ति को घर की उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा में रखना चाहिए। कुछ प्राणिशास्त्रियों के अनुसार भूकम्प आने से पहले एरोवाना मछली तलहटी में बैठ कर जाती है। इसको पालने से आप भूकंप आने से पहले भी उसके बारे में जान सकते हैं और सुरक्षित जगह पर जा सकते हैं।

Posted By: Shailendra Kumar