Guru Margi 2022: आज से देवगुरु बृहस्पति अपनी ही राशि में मार्गी होने जा रहे हैं। ज्योतिष में गुरु को सबसे खास और शुभ ग्रह माना जाता है। गुरु को ज्ञान, शिक्षक, संतान, बड़े भाई, शिक्षा, धार्मिक कार्य, यश और धन-समृद्धि के कारक ग्रह माना जाता है। खास बात ये है कि गुरु स्वयं की राशि यानी मीन में मार्गी होने जा रहे हैं। इससे उनके बल में वृद्धि होगी। जिन जातकों की कुंडली में गुरु ग्रह की स्थिति शुभ होगी, उनके अच्छे दिन शुरु होनेवाले हैं। देवगुरु बृहस्पति की कृपा से व्यक्ति का भाग्योदय होता है। गुरु के मीन राशि में सीधी चाल से चलने के कारण कई राशि के जातकों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी, करियर में सफलता मिलेगी और धन लाभ की अच्छी संभावनाएं बनेंगी। आपको बता दें कि 24 नवंबर को गुरु ग्रह सुबह 04 बजकर 36 मिनट पर मीन राशि में मार्गी हो जाएंगे। गुरु के वक्री से मार्गी होने का फायदा यूं तो सभी राशियों को मिलेगा, लेकिन कुछ राशियों को इस अवधि में विशेष लाभ होने वाला है।

इन राशियों को विशेष लाभ

मिथुन राशि

इस राशि के जातकों के लिए गुरु दशम भाव के स्वामी हैं और इसी भाव में मार्गी हो रहे हैं। आपको कार्यक्षेत्र में सकारात्मक बदलाव होंगे और नौकरी में बदलाव या पदोन्नति के योग बन रहे हैं। कारोबारियों को अपने काम में विशेष लाभ होगा और आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। गुरु दशम भाव के कारक भी हैं। ऐसे में बेरोजगारों को नौकरी मिलने और प्रतियोगिता परीक्षा दे रहे छात्रों को सरकारी नौकरी मिलने के योग हैं। इस राशि के लिए ये समय उनके कार्यक्षेत्र में भाग्योदय का है।

कर्क राशि

इस राशि के जातकों के लिए गुरु उनके नवम भाव यानी भाग्य स्थान में मार्गी हो रहे हैं। इस अवधि में आप लंबी दूरी की यात्रापर जा सकते हैं। कार्यक्षेत्र में ये समय ठहराव का होगा, लेकिन भाग्य आपका साथ देगा और भविष्य के लिए उन्नति की नींव इसी समय पड़ेगी। आप जिस काम में हाथ डालेंगे वहीं कामयाबी मिलेगी। लेकिन किसी भी तरह का गलत कार्य ना करें। इससे गुरु नाराज हो सकते हैं। इस अवधि में निवेश, शेयर बाजार या बड़े फैसले लेना सही रहेगा।

सिंह राशि

इस राशि के लिए गुरु पांचवें और आठवें भाव के स्वामी हैं। आठवें भाव में गोचर की वजह से आपमें आध्यात्मिकता आएगी। धर्म-कर्म में विशेष रुचि रहेगी और अचानक से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। ये भाव रहस्य का होता है। रिसर्च से जुड़े लोगों के लिए विशेष शुभ समय है। गूढ़ विषयों को पढ़ने और समझने में आसानी होगी। विदेश से जुड़े कामों में सफलता और मुनाफे के योग बन रहे हैं।

वृश्चिक राशि

इस राशि के लिए गुरु दूसरे और पांचवें भाव के स्वामी हैं। पांचवें भाव में मार्गी गुरु संतान दे सकते हैं। और अगर संतान बड़ी है, तो संतान से लाभ होने के संकेत हैं। शिक्षा से जुड़े लोगों को विशेष फायदा होनेवाला है। पारिवारिक जीवन में शांति रहेगी और पूरा सहयोग मिलेगा। नये संबंधों में भी सफलता मिलेगी। इस अवधि में आपका बैंक बैलेंस बढ़ने वाला है। निवेश, शेयर बाजार से जुड़े लोगों के लिए ये बहुत ही अच्छा समय है।

मीन राशि

आपकी जन्म राशि में ही गुरु मार्गी हो रहे हैं। ये आपके भाग्योदय का समय है। इनकी दृष्टि संतान भाव और भाग्य स्थान पर होगी। इन दोनों क्षेत्रों में विशेष लाभ के योग बन रहे हैं। खाने-पीने पर ध्यान दें क्योंकि वजन बढ़ सकता है। लेकिन आपके प्रभाव में वृद्धि होगी और कई लोग आपसे सलाह लेने आएंगे। आर्थिक स्थिति बेहतर होगी और सभी क्षेत्रों में आपको सकारात्मक बदलाव दिखेंगे।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close