Astro Tips: सोना हमेशा से एक कीमती धातु रहा है और इसके आभूषण पहनना व्यक्ति की आर्थिक स्थिति का सूचक माना जाता है। महिलाओं को सोने के आभूषण सबसे ज्यादा प्रिय होते हैं। आधुनिक दौर में सोना निवेश के लिए बेहतर माना जाता है। लेकिन ज्योतिष शास्त्र में सोना एक धातु है, धन से नहीं। ये संपत्ति से नहीं बल्कि ग्रहों की शुभता से जुड़ा है। ज्योतिष में सोने का संबंध गुरु ग्रह से माना जाता है। इसी तरह चांदी चंद्रमा से और लोहा शनि से संबंधित है। इसलिए सोने के गहने धारण करने से पहले अपनी कुंडली में गुरु ग्रह की स्थिति का ध्यान रखना चाहिए। कुछ मामलों में सोने का शौक नुकसानदेह भी हो सकता है। ज्योतिष शास्त्र का स्पष्ट मत है कि सोना हर हर किसी के लिए शुभ नहीं होता है। इसलिए आइये जानते हैं कि सोना किसे और कब पहनना चाहिए, ताकि ग्रहों के विपरीत फल ना मिलें।

इनके लिए शुभ है सोना

  • जिन व्यक्तियों का जन्म मेष, कर्क, सिंह और धनु लग्न या राशि में हुआ है, उनके लिए सोना शुभ धातु है। आप जितना चाहे, उतना सोना धारण कर सकते हैं।
  • अगर कुंडली में गुरु शुभ स्थिति में या उच्च का हो तो सोना पहन सकते हैं। साथ ही अगर गुरु कुंडली में कमजोर स्थिति हैं, तो भी उसे मजबूत करने के लिए सोना पहन सकते हैं।
  • अगल लग्न कमजोर हो, तो गले में सोना पहनने से गुरु ग्रह, लग्न भाव में अपना प्रभाव दिखाता है और उसे मजबूती प्रदान करता है।

इन लोगों के लिए सोना अशुभ

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close