Ganesh Chaturthi 2021: गणपति बप्पा हम सभी के बीच पधार चुके हैं। बप्पा के हमारे बीच आने से जश्न का माहौल है। 10 सितंबर से शुरू हुआ यह जश्न 19 सितंबर 19 सितंबर को अनंत चतुर्दशी तक चलेगा। इन 10 दिनों तक सभी लोग गणेश भगवान की पूजा करते हैं और उन्हें प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं। लेकिन इस दौरान गलतियां करने पर गणेश भगवान प्रसन्न होने की बजाय नाराज हो सकते हैं। गणेश जी को फूल चढ़ाते समय कई बातों का ध्यान रखना चाहिए, वरना गणपति बप्पा नाराज हो जाते हैं और घर में दरिद्रता आ जाती है। यहां हम इसी बारे में बता रहे हैं कि गणेश जी को फूल चढ़ाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

सूखे और बासी फूल न चढ़ाएं

गणेश जी को लाल और पीले फूल बहुत प्रिय हैं, लेकिन बासी फूल उन्हें जरा भी रास नहीं आते। ऐसे में बासी फूल चढ़ाने पर गणेश जी नाराज हो सकते हैं और घर में दरिद्रता का वास हो सकता है।

तुलसी दल

तुलसी माता ने गणेश जी को लम्बोदर कहते हुए उनसे विवाह करने से मना कर दिया था। इसलिए गणेश जी ने उन्हें श्राप दिया था। इसीलिए गणेश जी को तुलसी दल चढ़ाना वर्जित है।

केतकी के फूल

केतकी के फूल भगवान शिव को बिल्कुल पसंद नहीं है। इसी वजह से गणेश जी भी इन फूलों को पसंद नहीं करते हैं और उन्हें भी केतकी के फूल गलती से भी नहीं चढ़ाने चाहिए।

गेंदे का फूल

गणेश जी को गेंदे का फूल भी बहुत रास आता है। उन्हें मुख्य रूप से गेंदे का ही फूल चढ़ाना चाहिए। गणपति बप्पा को गेंदे का फूील चढ़ाने से सभी मनोकामनाएं जल्द पूरी होती हैं।

गुड़हल के फूल

गणेशजी को लाल और पीले फूल बहुत प्रिय है। इसलिए उन्हें गुड़हल के लाल और पीले फूल चढ़ाने चाहिए। ऐसा करने से गणेश जी शीघ्र प्रसन्न होते हैं और सभी कष्टों को दूर करते हैं।

दुर्वा

गणेश जी के लिए सबसे खास चीज दुर्वा को माना जाता है। सुबह स्नान करने के बाद विधि-विधान से पूजा- अर्चना करें और पूजा में भगवान गणेश को उनके मनपसंद फूल और दूर्वा जरूर अर्पित करें। ऐसा करने से आपके सभी कष्ट दूर हो जाएंगे।

Posted By: Navodit Saktawat