दिसंबर माह हिंदू पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष और पौष माह से मिलकर बनता है। यह माह अंग्रेजी कैलेंडर का आखिरी माह है। इसके बाद उम्मीदों का पिटारा लिए नववर्ष की शुरूआत होती है।

अंकशास्त्र के अनुसार यदि किसी भी शिशु का जन्म दिसंबर में होता है तो वह कल्पना लोक में विचरण करना पसंद करता है। आलसी प्रवृत्ति के होने के साथ इस माह में जन्मे लोग दार्शनिक व्यक्तित्व के होते हैं। वे बेहद संवेदनशील और भावुक प्रकृति के होते हैं।

विश्‍वविख्‍यात भविष्‍य वक्‍ता कीरो(कीरो ने वैज्ञानिक पद्धति से भविष्य का वाचन करते थे। उनका जन्म नवंबर 1866 में इंग्लैंड के ब्रे नामक स्थान पर हुआ था।) दिसंबर महीने में जन्‍मे लोगों के बारे में लिखते हैं, ' व्‍यापार में वे भारी उद्यमी होते हैं, लेकिन अपने को कभी एक काम से बंधा महसूस नहीं करते। ये तेजी से अपने विचार बदलते रहते हैं। राजनीतिज्ञ के रूप में वे अपनी नीतियों में कई बार परिवर्तन करेंगे। धर्म प्रचारक के रूप में वे धर्म के बारे में विचार बदल सकते हैं। वैज्ञानिक प्राय: अपना काम छोड़ किसी उद्योग को अपना सकते हैं।'

दिसंबर में जन्मे लोगों को बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इनसे अपना परिवार छोड़ा नहीं जाता, जिस कारण उन्नति के कई अवसर ये गवां देते हैं। इसलिए ये जातक यदि स्वयं का बिजनेस करें तो लाभदायक रहता है।

पढ़ें: शादी से पहले क्या सोचती हैं लड़कियां

यदि वह करियर की ऊंचाई चाहते हैं तो कला, संगीत, डांस, धर्म और दर्शन के क्षेत्र में काफी नाम कमा सकते हैं। इसका सबसे सटीक उदाहरण आचार्य रजनीश यानि ओशो हैं। उनका जन्म 11 दिसंबर 1931 को हुआ था। उन्होंने दर्शन को एक नई ऊंचाई दी।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस