आप लोगों ने अक्सर रात में घर के बाहर कुत्तों के भौंकने और रोने की आवाज सुनी होगी। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार कुत्ते का रोना अशुभ माना जाता है। कहा जाता है कि यदि कुत्ता किसी के घर के बाहर रोता है तो उसके घर में किसी तरह की बड़ी विपत्ति आने वाली होती है। कुत्तों को इस बात का पहले से आभास हो जाता है। वहीं, कुत्तों का दिन में रोना भी अशुभ माना गया है। आइए जानते हैं कुत्ते के रोने के पीछे अशुभ संकेत।

कुत्ते के रोने के अशुभ संकेत

1.कुत्ता जिस व्यक्ति के घर के बाहर रोता है उसे अप्रिय समाचार सुनने को मिलता है।

2.कुत्तों का रात के समय रोना कई तरह की अनहोनी के संकेत होते हैं।

3.कुत्तों को संकट या अप्रिय घटना का पहले से ही आभास हो जाता है।

4.नकारात्मक शक्ति की मौजदूगी में भी कुत्ता रोने लगता है।

5.कुत्ते का तेज रोना अपने साथी कुत्तों को पहले से होने वाली अप्रिय घटना के बारे में सूचित करना होता है।

6.यदि आपका पालतू कुत्ता खाना-पीना छोड़ दे और रोने लगे तो समझिए आपके घर में कोई अप्रिय घटना होने वाली है।

कुत्ते के रोने के अन्य कारण

1. कुत्तों को भी हम इंसानों की तरह अकेले रहना बिल्कुल पसंद नहीं होता। कई बार कुत्ते अकेलेपन के कारण रोते हैं।

2.कई बार कुत्ते भूखे रहने की वजह से भी रोते हैं।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close