Love Astrology: हम अपने जीवन में अलग-अलग प्रकार के लोगों से मिलते हैं। किसी का स्वभाव हमें अच्छा लगता है तो किसी को सेहन कर पाना भी असंभव होता है। किसी से प्रथम भेंट में ही हम प्रभावित हो जाते हैं तो किसी के साथ सहज होने में भी बहुत समय लगता है। वैसे तो आजकल भोले भाले लोग कम ही मिलते हें लेकिन फिर भी कुछ लोग इतने मासूम होते हैं कि उन्हें बहलाना मुश्किल नहीं होता है। कुछ बहुत चालाक लोग भी जीवन में आ जाते हैं जो बड़ी चालाकी और समझदारी के साथ हमें अपनी बातों में उलझाकर अपने अनुसार काम लेने का प्रयास करते हैं। सुखी जीवन के लिए यह बहुत जरूरी है कि हम ऐसे लोगों की पहचान करना सीखें और फिर उसी के अनुसार उनके साथ व्यवहार करें। खासकर तब जब हम किसी के साथ प्रेम संबंध में होते हैं, क्योंकि प्रेम संबंध में शन्ति और खुशहाली होना अत्यंत आवश्यक है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ऐसी 4 राशियां हैं जिनसे संबंधित जातक प्रेम संबंधों में चालाकी से काम लेते हैं। वह हर वो तरीका अपना सकते हैं जिससे कि उनका साथी उनके अनुसार कार्य करे।

मिथुन राशि :-

सबसे प्रथम श्रेणी में नाम है मिथुन राशि का, मिथुन राशि का जातक वैसे ही दोहरे चरित्र वाला व्यक्ति कहा जाता है। मिथुन राशि के जातक अपने शब्दों को लेकर बहुत संजीदा और सचेत रहते हैं। वो ये जानते हैं कि कैसे मीठे शब्दों के सहारे सामने वाले व्यक्ति से अपने अनुसार काम निकलवाना है और आप इनकी बातों में आ जाते हैं।

सिंह राशि :-

दूसरी राशि है सिंह, जिससे संबंधित जातक तब चपलता से काम लेते जब उन्हें लगता है कि सामने वाला व्यक्ति उनकी बात नहीं समझ रहा है या उनकी बात नहीं मान रहा है। जैसे असुरक्षा की स्थिति में ‘शेर’ बहुत ही चालाकी से काम लेता है और वो भी अपने शिकार की कमजोरियों को भांपते हुए काम लेता है।

वृश्चिक राशि :-

तीसरी यानि वृश्चिक राशि के जातक कभी अपनी भावनाएं उजागर नहीं करते। जिस कारण से इनके प्रेम संबंधों में दुविधा की स्थिति अवश्य बनी रहती है। वृश्चिक राशि के जातकों की शांति में ही उनकी चालाकी छिपी होती है। सामने वाला व्यक्ति कभी यह अनुमान तक नहीं लगा पाता कि आखिर उनके दिमाग में चल क्या रहा है।

मीन राशि :-

चौथी राशि है मीन, जो बड़ी ही चालाकी के साथ अपने प्रेमी को अपने अनुसार चलने के लिए तैयार कर लेते हैं। जो हर किसी के बस की बात नहीं है। प्रेम संबंधों में ये अपने अनुसार चलते हैं।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close