Mangal Gochar 2022: ज्योतिष शास्त्र में मंगल ग्रह को कई राशियों के लिए बेहद मंगलकारी माना जाता है। 10 अगस्त को मंगल वृषभ राशि में गोचर करने जा रहे हैं। मंगल के गोचर से जहां एक तरफ राहू के साथ उनकी युति खत्म हो जाएगी, वहीं शुक्र की राशि वृष में उनके प्रवेश से कुछ राशियों को बेहद शुभ परिणाम प्राप्त होगा। मंगल को अग्नि तत्व माना जाता है और ये जोश, उत्साह, शौर्य, साहस, शक्ति और लगन के कारक हैं। मंगल का 10 अगस्त, 2022 बुधवार को रात 09:43 बजे वृषभ राशि में गोचर होगा। मंगल के गोचर से भूमि, रियल एस्टेट, प्रौद्योगिकी तथा इंजीनियरिंग आदि से जुड़े लोगों को लाभ मिलेगा। आईये जानते हैं मंगल के इस गोचर से किन राशियों को विशेष लाभ मिलनेवाला है।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए मंगल बारहवें और सातवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल आपके लग्न यानी प्रथम भाव में गोचर करेगा। मंगल का ये गोचर इस राशि के जातकों के लिए बेहद शुभ फलदायक है। इस दौरान आपको विदेश से कुछ नए अवसर मिलने की संभावना बनेगी। भाग्य का साथ मिलेगा और किसी बड़े विवाद से छुटकारा मिल सकता है। इस गोचर काल में आत्मविश्वास मजबूत रहेगा। इसके अलावा जो साझेदारी में बिजनेस कर रहे हैं, उन्हें मोटा मुनाफा प्राप्त होगा। किसी संपत्ति की ख़रीद व बिक्री से भी लाभ होने की संभावना है। चूंकि मंगल आपके बारहवें भाव यानी व्यय एवं हानि के भाव का स्वामी है, ऐसे में आपको किसी भी प्रकार का सौदा या लेन-देन करते वक़्त अधिक सावधान रहने की जरुरत है। वहीं विवाहित लोगों को अपने जीवनसाथी की ओर से पूरा सहयोग प्राप्त होगा क्योंकि मंगल अपने भाव पर दृष्टि डाल रहा है।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए मंगल योगकारक ग्रह है। यह आपके केंद्र और त्रिकोण भावों का यानी पांचवें और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल आपके ग्यारहवें भाव यानी लाभ भाव में गोचर करेगा। मंगल का राशि परिवर्तन इस राशि के जातकों के लिए मंगलकारी होनेवाला है। यदि आप रियल एस्टेट, इंजीनियरिंग या डिफेंस आदि क्षेत्रों में कार्यरत हैं और आपके प्रमोशन की प्रबल संभावना है। जो लोग नई नौकरी की तलाश में हैं, उनके लिए मंगल का गोचर शुभ साबित होगा। इस अवधि में मंगल देव की कृपा से आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी और आय के नए स्रोत बनेंगे। यह अवधि कर्क राशि के छात्रों के लिए भी अनुकूल सिद्ध होगी।

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों के लिए मंगल नौवें और चौथे भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल आपके दसवें भाव यानी कि कर्म भाव में गोचर करेगा। इस दौरान स्वास्थ्य सेवा, रियल एस्टेट और सशस्त्र बल आदि से जुड़े जातकों को सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। मंगल गोचर की अवधि में आर्थिक उन्नति होगी और इस दौरान परिवार में खुशहाली का माहौल रहेगा। अगर बिजनेस में किसी तरह का आर्थिक निवेश किया जाए, तो अतिरिक्त धन लाभ होने की संभावना है। इस अवधि में आपका पेशेवर जीवन लाभप्रद व आरामदायक रहेगा। साथ ही आधिकारिक पदों पर नए अवसर मिलने के योग बनेंगे। आपके लग्न भाव पर मंगल की चतुर्थ दृष्टि आपके स्वास्थ्य तथा व्यक्तित्व में निखार लेकर आएगा।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए मंगल चौथे भाव और ग्यारहवें भाव का स्वामी है। इस गोचर काल के दौरान मंगल आपके पांचवें भाव यानी कि प्रेम, शिक्षा व संतान के भाव में गोचर करेगा। लग्न के त्रिकोण में होने की वजह से इस गोचर में चौथे और ग्यारहवें भाव से जुड़े सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। दसवें और ग्यारहवें भाव पर मंगल की दृष्टि पेशेवर रूप से अनुकूल सिद्ध होगी। आपके ऊपर ज़िम्मेदारियां तो होंगी लेकिन अच्छे काम के लिए आपको प्रोत्साहन भी दिया जाएगा। ऐसे में आपकी पदोन्नति की प्रबल संभावना है। छात्रों के लिए यह गोचर अवधि विशेष रूप से अनुकूल सिद्ध होगी, क्योंकि इस दौरान वे अधिक ऊर्जावान रहेंगे और इसे सही दिशा में सदुपयोग कर सकेंगे।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close