Mangalwar Upay: सप्ताह में सात दिन होते हैं और सनातन धर्म में हर दिन एक देवता को समर्पित होता है। शास्त्रों की मानें तो मंगलवार का दिन हनुमान जी को समर्पित होता है और उनकी पूजा के लिए उपयुक्त माना जाता है। इस दिन लोग ना सिर्फ हनुमान जी की पूजा करते हैं बल्कि अपने कष्टों के निवारण के लिए कई उपाय भी करते हैं। चूंकि मंगलवार का दिन पवनपुत्र को समर्पित होता है इसलिए मान्यता है कि इस दिन भगवान अपने भक्तों पर विशेष कृपा बरसाते हैं। तो आइए जानते हैं कि मंगलवार के दिन किन उपायों को करने से भक्तों के कष्टों का निवारण होता है और हनुमान जी प्रसन्न होकर हर मनोकामना पूरी करते हैं।

शत्रुओं पर विजय पाने के लिए

अगर आपको कई दिनों से लग रहा है कि कोई आपके खिलाफ षड़यंत्र रच रहा है और आपकी तरक्की व सफलता से जल रहा है तो आपको मंगलवार के दिन बजरंग बाण का पाठ करने की सलाह दी जाती है। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि ऐसा करने से आपकी रक्षा शत्रुओं से होती है और उनपर विजय मिलती है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि इसका पाठ को एक जगह बैठकर 21 दिनों तक करना चाहिए।

भूत-प्रेत व बाधाओं से बचने के लिए

अगर आपको डर लगता है और रात में आपको भूत-प्रेत बाधाओं के डर से नींद नहीं आती तो आपको हनुमान मंत्र का जप करने के बाद ही सोना चाहिए। इसके लिए आप रात को सोने से पहले हाथ-पैर और कान-नाक धोकर हनुमान जी की सच्चे मन से आराधना करें व हं हनुमते नम: का 108 बार जप करें। इससे आपके मन के सभी डर दूर हो जाएंगे।

रोगों से मुक्ति के लिए

जानकारों के अनुसार अगर आपको हमेशा गठिया, सिरदर्द, कंठ रोग और जोड़ों का दर्द रहता है तो इन समस्याओं के लिए आप हनुमान बाहुक का पाठ करें, इसके लिए आपको एक पात्र में जल लेकर हनुमान बाहुक का पाठ करें और फिर पात्र में रखा जल पी लें, इसके बाद दूसरे दिन फिर से ताजा जल लें। ऐसा 26 या 21 दिन तक पाठ करना होगा।

शाबर मंत्र

हनुमान जी के शाबर मंत्र को बहुत ही सिद्ध मंत्र माना जाता है। हनुमान जी के कई शाबर मंत्र हैं, अलग-अलग कार्यों की सफलता के लिए हैं अलग-अलग मंत्र का जाप किया जाता है। मान्यता है कि इस मंत्र के जाप से हनुमान जी जल्द ही भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं और चमत्कारिक रूप से कष्टों को समाप्त कर देते हैं।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close