Shukr ka raashi parivartan: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। भोग विलास, भूमि, भवन और वाहन का सुख देने वाले शुक्र ग्रह का राशि परिवर्तन 29 दिसंबर को शनि की राशि मकर में प्रवेश करेंगे। मकर में शुक्रदेव 22 जनवरी तक रहेंगे। शुक्र के इस राशि परिवर्तन से तीन राशियों को फायदा होगा। इनमें राशियाें में मेष, कन्या व मकर राशि हैं। ज्योतिषाचार्य सुनील चौपड़ा के मुताबिक वैदिक ज्योतिष में शुक्र को शुभ ग्रह माना गया है। शुक्र एक स्त्री ग्रह है और पुरुष की कुंडली में इससे पत्नी का विचार किया जाता है। शुक्र ग्रह की कृपा से जातक को भोग विलास,भूमि,भवन और वाहन का सुख प्राप्त होता है। शुक्र देव जब कुंडली में मजबूत होते हैं तो जातक को स्त्री सुख की प्राप्ति होती है। ऐसे जातकों को सिनेमा,संगीत और नृत्य में भी रूचि होती है।

इन राशियों को होगा फायदा

मेष राशि : इस राशि के जातकों के लिए शुक्र दूसरे और सप्तम भाव के स्वामी होते हैं। शुक्र का गोचर आपके दसवें भाव से होगा। शुक्र का गोचर इस भाव में बेहद अच्छे फल देने वाला माना गया है। शुक्र की सप्तम दृष्टि आपके चौथे भाव पर होगी। इस गोचर के प्रभाव से आपको कार्यस्थल पर बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। भौतिक सुख सुविधाओं की प्राप्ति आपको इस समय होगी। अगर आप खुद का काम करते हैं तो इस समय आपको बड़ा निवेश प्राप्त हो सकता है।

कन्या राशि: इस राशि के जातकों के लिए शुक्र दूसरे और नवम भाव के स्वामी होते हैं। शुक्र का गोचर अब आपके पंचम स्थान से होने जा रहा है। पंचम भाव से जातक की शिक्षा, प्रेम और संतान का विचार किया जाता है। पंचम भाव में विराजमान शुक्र की दृष्टि आपके एकादश भाव पर होगी। शुक्र के इस गोचर के कारण नवीन प्रेम संबंध स्थापित होने का योग है। इस गोचर के कारण स्त्री जातकों को अपने व्यापार में बेहद अच्छा मुनाफा होगा।

मकर राशि: शुक्र पंचम और दशम के स्वामी होकर बेहद शुभ फल प्रदान करते हैं। शुक्र का गोचर अब इस राशि के जातकों के लिए लग्न से ही होने वाला है। लग्न में विराजमान शुक्र की दृष्टि आपके सप्तम भाव पर होगी। लग्न से जातक के व्यक्तित्व के बोध होता है। शुक्र के प्रभाव से आपको इस समय हर जगह से लाभ होता हुआ प्रतीत हो रहा है। इस समय आपको अपने काम को आगे बढ़ाने के लिए धन की जरूरत है तो वो परिवार की मदद से पूरी की जायेगी।

Posted By: anil tomar

  • Font Size
  • Close