जब हम किसी समस्या से परेशान होते हैं तो कुछ उपाय करते हैं। यदि यह उपाय पूरी आस्था से चैत्र नवरात्र में आजमाए जाएं तो परेशानियां काफी हद तक कम हो सकती हैं।

लेकिन ये तभी होगा जब आप इन्हें नियमानुसार करेंगे। जैसा कि हमारे शास्त्रों में वर्णित हैं। इन उपायों के बारे में विस्तृत जानकारी हमें तंत्र शास्त्र में मिलती है। तंत्र शास्त्र वैदिक काल का ग्रंथ है।

धन लाभ के लिए

यदि आपके पास धन की कमी रहती है तो नवरात्र में किसी भी कमरे में शांत कमरे में बैठ जाएं। ध्यान रखें उत्तर दिशा की ओर मुख करके पीले आसन पर ही बैठें। अब अपने सामने तेल के नौ दीपक जला लें। ये दीपक साधना काल तक जलते रहना चाहिए। इन नौ दीपक के सामने लाल चावल की ढेरी बनाकर उस पर एक श्री यंत्र रख लें।

इस श्री यंत्र पर कुमकुम, धूप, फूल, दीप से पूजन करें। इस पूरी क्रिया को करने के बाद प्लेट पर स्वस्तिक बनाकर पूजन करें। अब इस श्रीयंत्र को घर के पूजा स्थल पर स्थापित कर दें। शेष साम्रगी को नदी में प्रवाहित कर दें। इस प्रयोग को करने से अचानक धन की प्राप्ति होगी।

नहीं मिल रही नौकरी तब

यदि नौकरी में सफलता पाना चाहते हैं तो नवरात्रि के दिन किसी भी दिन जल्दी उठकर स्नान करें। अब सफेद रंग का सूती आसन बिछाकर उस पर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अब उस पर पीला कपड़ा बिछाकर 108 मनकों वाली स्फटिक की माला रख दें। इस पर केसर और इत्र छिड़क दें। फिर...

'ऊं ह्लीं बाघवाधिनींम भगवती मम्

कार्यसिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा

मंत्र का 21 बार जप करें इस प्रकार 11 दिन तक करने से यह माला सिद्ध हो जाएगी। जब भी आप इंटरव्यू में जाएं किसी से मिलने जाएं तो स्फटिक की माला पहन कर जाएं आपके कार्य जरूर पूरे होंगे।

मन चाहे विवाह के लिए

यदि कोई लड़का मन पसंद लड़की से, और यदि कोई लड़की मन पसंद लड़के से शादी करना चाहती है। तब उसे नवरात्र में सोमवार के दिन शिव मंदिर में पंचामृत से शिवलिंग का अभिषक करना चाहिए। इसके बाद मंदिर में झाड़ू लगाएं। अब शिवलिंग की चंदन धूप-पुष्प से पूजा करें। उसी दिन रात 10 के बाद अग्नि प्रज्वलित कर 'ऊं नमः शिवाय' बनाकर घी से 108 आहुति दें। अब 40 दिनों तक इसी मंत्र का जप भगवान के सम्मुख करें। मनोकामना पूरी होगी।


नोटः यह उपाय किसी विद्वान ज्योतिषी की सलाह पर ही करें।